स्वच्छता को पलीता लगा रहा स्वास्थ्य महकमा, अस्पतालों मे गन्दगी का अंबार

गंदे-टूटे पड़े शौचालय की स्थिति देख ऐसा नहीं लगता कि स्वच्छता अभियान का कोई असर यहां दिख रहा हो।

By:

Published: 16 May 2018, 02:32 PM IST

बलरामपुर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वच्छता अभियान को लेकर जितने संवेदनशील हैं, वही बलरामपुर का प्रशासन यहां तक कि स्वास्थ्य महकमा उतना ही संवेदनहीन दिखाई दे रहा है. जिसका नतीजा जिले में चारों तरफ फैली गंदगी, अस्पतालों में पटी हुई नालियां, गंदे व टूटे पड़े शौचालय की स्थिति देखकर ऐसा नहीं लगता कि स्वच्छता अभियान का कोई असर यहां पर दिखाई दे रहा हो।

जनपद बलरामपुर के सभी चिकित्सालय की स्थिति काफी दयनीय है। अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी तो है ही साफ सफाई का भी पूर्ण रूप से अभाव है। जिला मेमोरियल चिकित्सालय का पड़ताल किया तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। चिकित्सालय के अंदर बने हुए मेडिकल वार्ड, सर्जिकल वार्ड, बर्न वार्ड इमरजेंसी वार्ड तथा स्पेशल वार्ड में बनाए गए शौचालय की स्थिति बद से बदतर दिखाई दी.शौचालय की सीट टूटे हुए थे जो सही थे वह गंदगी से भरे हुए दिखाई दिए। कहीं पानी बहता हुआ मिला तो कहीं टंकी टूटी हुई दिखाई दी। वाशबेसिन तथा फर्श भी काफी गंदे दिखाई दिए और इसी गंदगी के बीच अस्पताल में आने वाले मरीजों तथा उनके तीमारदार जीने के लिए मजबूर हैं।

एक बार अस्पताल में भर्ती हो जाने के बाद मरीज तो मरीज है ही तीमारदार भी मरीज बन जाते हैं। तमाम प्रयासों तथा शिकायतों के बावजूद भी कोई असर दिखाई नहीं दे रहा। अस्पताल की साफ सफाई का जिम्मा एक प्रायव्हेट नोडल एजेंसी पीसीएस को दिया गया है। एजेंसी के सुपरवाइजर सच्चिदानन्द से बात की गई तो उसने बताया कि शौचालयों की संख्या कम है और जो है उसमें भी कई टूटे हुए हैं जिससे दबाव ज्यादा रहता है इसीलिए साफ-सफाई नियमित नहीं हो पाती।

प्रभारी सीएमएस डा0 आरडी तिवारी से जब बात की गई तो उन्होंने साफ तौर पर कहा कि अस्पताल में कहीं भी गंदगी नहीं है । इसका मतलब यह हुआ कि डॉक्टर साहब अपने चेंबर से बाहर निकल कर कभी शायद देखते नहीं हैं और यदि देखते तो उन्हें इस प्रकार वक्तब्य देने की जरूरत नहीं होती। यदि देखते हैं तो फिर उनका कथन पूर्णतया असत्य दिखाई दे रहा है। कारण चाहे जो भी हो अस्पताल की हालत काफी दयनीय है और इसे सुधार की जरूरत है।

PM Narendra Modi
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned