बोल बम, ऊॅ नमः शिवायः के नारों के साथ हजारों श्रद्धालुओं ने शिव मन्दिरों में किया जलाभिषेक

बोल बम, ऊॅ नमः शिवायः के नारों के साथ हजारों श्रद्धालुओं ने शिव मन्दिरों में किया जलाभिषेक

Akanksha Singh | Publish: Sep, 12 2018 02:58:19 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

बलरामपुर में कजरी तीज के मौके पर हजारों श्रद्धालुओं ने शिव मन्दिरों में जलाभिषेक किया।

बलरामपुर. बलरामपुर में कजरी तीज के मौके पर हजारों श्रद्धालुओं ने शिव मन्दिरों में जलाभिषेक किया। कांवरियों ने राप्ती नदी से जल भरकर राजापुर भरिया जंगल स्थित अति प्राचीन कल्पेश्वर महादेव के मन्दिर जलाभिषेक किया। पीला वस्त्र पहने कांवरिये बोल बम, ऊं नमः शिवायः के नारे लगाते हुए चिलचिलाती धूप में भी रूकने का नाम नहीं ले रहे थे। राप्ती नदी से कल्पेश्वर महादेव तक की सतरह किलोमीटर तक की पैदल यात्रा में कावरियों के लिए स्थानीय लोगों के ने प्रसाद और उन्हें गर्मी न लगे इसलिए पानी के फैवारों का इन्तेजाम कर रखा था।

कावरियों की यात्रा के साथ उनका मनोरंजन करने के लिए भक्तिमय गानों का डी.जे सिस्टम भी साथ में चल रहा था जिस पर अपने पांव थिरकाने से भोले के भक्त अपने आप को रोक नहीं पाये। कांवरिये अपनी यात्रा की थकान व गर्मी को भुलाते हुए नाचते गाते शिव मन्दिर पहुंचे जहां जय भोले के नारों से सारा वातावरण पवित्र हो गया। कल्पेश्वर महादेव के मन्दिर में पहुंचकर कावरियों और शिव भक्तों ने बेलपत्री, पुष्प, दूध, दही से महादेव का जलाभिषेक किया। कांवर यात्रा को देखते हुए प्रशासन काफी सतर्क रहा।

जिले के तीनों तहसील मुख्यालय सहित ग्रामीण क्षेत्रों के सभी शिव मंदिरों पर भोर सुबह से ही जलाभिषेक का क्रम शुरू हुआ जो निरंतर देर रात तक चलता रहेगा। कजरी तीज के अवसर पर कई जगह क्षेत्रीय मेले का भी आयोजन हुआ जो पारंपरिक ढंग से बरसों से होता रहा है। हजारों की संख्या में शिव भक्त राप्ती नदी से जल लेकर बलरामपुर उतरौला मार्ग पर राजापुर भरिया जंगल में स्थित कल्पेश्वर नाथ महादेव के मंदिर में जाकर जलाभिषेक किया। इस मंदिर के विषय में कहा जाता है कि यहां का शिवलिंग स्वयंभू है अर्थात जमीन से स्वयं प्रकट हुआ है। इसे स्थापित नहीं किया गया है। इस क्षेत्र में इस मंदिर का विशेष महत्व है। इसके अलावा मुख्यालय का झारखंडेश्वर महादेव, पोखरांनाथ महादेव रेणुका नाथ महादेव पोकरण नाथ महादेव प्रकारेश्वर नाथ महादेव मथुरा बाजार का गौरी शंकर मंदिर उतरौला के नागेश्वरनाथ मंदिर पचपेड़वा के शिवगढ़ धाम स्थित महादेव मंदिर के साथ साथ ललिया, शिवपुरा, बरदौलिया, बलदेव नगर हर्राया, तुलसीपुर, गौरा, श्रीदत्तगंज के क्षेत्रों में स्थापित विभिन्न शिव मंदिरों पर बड़ी संख्या में शिव भक्तों ने भगवान शिव का जलाभिषेक किया ।

भोर सुबह से ही पूरे दिन हर-हर महादेव के जयकारों से वातावरण गुंजायमान हो रहा है । जिला मुख्यालय सहित सभी क्षेत्रों में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे । तमाम समितियों व संस्थाओं द्वारा कांवर ले जाने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए जगह-जगह पीने के लिए ठंडा पानी वह खाने के तमाम वस्तुओं के प्रबंध किए गए थे । जहां पर कांवड़ियों के लिए बैठने तथा आराम करने की भी व्यवस्था की गई थी ।

Ad Block is Banned