scriptAction on Mukhtar Ansari after VIP Treatment in Banda jail | अब बाकी कैदियों की तरह जेल में रहेंगे मुख्तार अंसारी, वीआईपी ट्रीटमेंट के बाद कर्मचारियों को अल्टीमेटम | Patrika News

अब बाकी कैदियों की तरह जेल में रहेंगे मुख्तार अंसारी, वीआईपी ट्रीटमेंट के बाद कर्मचारियों को अल्टीमेटम

Mukhtar Ansari: जेल में बंद मुख्तार अंसारी को वीआईपी ट्रीटमेंट देना कर्मचारियों को भारी पड़ गया। डीआईजी ने बयान लेकर चेतावनी दी।

बांदा

Updated: June 11, 2022 01:20:04 pm

पूर्वांचल माफिया और पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी की खातिरदारी में एक डिप्टी जेलर और चार बंदी रक्षकों के निलंबन के बाद बांदा मंडल कारागार में सभी कर्मचारी सहमे हैं। गुरुवार को चर्चाएं रहीं कि डीआईजी जेल बयान लेकर गए हैं। अभी और कर्मचारियों पर गाज गिरने की आशंका है। वहीं, जेलर और डिप्टी जेलर की ओर से मुख्तार अंसारी को लेकर अब तक कोर्ट के आए आदेशों का रिव्यू किया गया।
Action on Mukhtar Ansari after VIP Treatment in Banda jail
Action on Mukhtar Ansari after VIP Treatment in Banda jail
सोमवार रात डीएम और एसपी ने संयुक्त रूप से बांदा मंडल कारागार का औचक निरीक्षण किया था। मुख्तार अंसारी की खातिरदारी और गंभीर अनियमितताएं मिलने, निरीक्षण में सहयोग न कर बाधा पहुंचाने के प्रथम दृष्टया दोषी डिप्टी जेलर वीरेश्वर प्रताप सिंह, मुख्तार बैरक के बाहर सुरक्षा में तैनात चार बंदी रक्षकों के बॉडी कैम न लगाए होने पर निलंबन की रिपोर्ट शासन को भेजी थी। इसपर उप महानिरीक्षक कारागार प्रशासन एवं सुधार सेवाएं की ओर पांचों को निलंबित किया गया था। मंगलवार शाम डीआईजी जेल ने बांदा मंडल कारगार का निरीक्षण किया। दूसरे दिन यहां के जेलर सहित 28 कर्मचारियों के बयान लिए। जिसकी रिपोर्ट लखनऊ में शासन को सौंपेंगे। प्रभारी जेलर वीरेंद्र कुमार वर्मा ने बताया कि कारगार की सुरक्षा-व्यवस्था और टाइट की गई है। मुख्तार की बैरक के बंदी रक्षक बदल दिए गए हैं। मुख्तार को लेकर अब तक कोर्ट से आए आदेश का रिव्यू किया गया जा रहा है। जेल मैन्युअल के हिसाब से भोजन और अन्य सुविधाएं दी जा रही हैं।
यह भी पढ़ें

अचानक नहीं बल्कि पहले से तैयार था हिंसा का प्लान, खूफिया तंत्र की जांचों से बड़े खुलासे

गर्म मिला था तवा, मेवा भी

डीएम अनुराग पटेल, एसपी अभिनंदन, सीओ सिटी राकेश कुमार सिंह, एसओजी और पुलिस बल के साथ अचानक मंडल कारागार पहुंचे। पहले गेट में प्रवेश के बाद दूसरे गेट पर अफसरों को करीब 15 मिनट इंतजार करना पड़ा, तब गेट खोला गया। अधिकारी सीधे मुख्तार की तन्हाई बैरक (15 और 16 नंबर) पहुंचे। बैरक बंद थी। डिप्टी जेलर वीरेश्वर प्रताप से बैरक की चाबी मांगी गई। चाबी लाने में भी उन्होंने 15 मिनट लगा दिए, जिस पर अफसरों को संदेह हुआ। अधिकारियों ने बैरक की तलाशी ली तो वहां दहशरी आम, खजूर और कीवी के साथ जेल मैन्युअल से अलग खाना मिला। जेल मैन्युअल से अलग स्पेशल ट्रीटमेंट देने के आदेश की जानकारी मांगी तो डिप्टी जेलर ने बताया कि प्रभारी जेलर के निर्देश पर फल और बाहर से खाना मंगवाया जाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.