एससी / एसटी के विरोध में बांदा में भी दिखा भारत बंद का असर, जबरन बंद कराई गई दुकानें

एससी / एसटी के विरोध में बांदा में भी दिखा भारत बंद का असर, जबरन बंद कराई गई दुकानें

Mahendra Pratap Singh | Publish: Sep, 07 2018 11:27:59 AM (IST) | Updated: Sep, 07 2018 03:38:18 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

देश भर में एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ चल रहे भारत बंद का असर बांदा में भी देखने को मिला है।

बांदा. देश भर में एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ चल रहे भारत बंद का असर बांदा में भी देखने को मिला है। काली पट्टी बांधकर व्यापारी से लेकर आम नागरिकों की हजारों की भीड़ सड़कों पर नजर आई। यहां बाजारों में कुछ दुकानें तो बंद नजर आई लेकिन जो दुकानें खुली थी उनको भी प्रदर्शन कारियों ने जबरन बंद करा दिया।

प्रशासन ने किए पुख्ता इंतजाम

प्रदर्शन में कहीं कोई दुर्घटना न हो इसको लेकर प्रशासन ने भी पुख्ता इंतजाम कर रखे थे। जिस-२ तरफ से प्रदर्शनकारी प्रदर्शन करते हुए जा रहे थे। उन रूटों पर पुलिस बल को तैनात किया गया था। साथ ही प्रदर्शनकारियों के साथ भी पुलिस बल मौजूद था लेकिन बांदा में प्रदर्शन कारियों द्वारा कहीं कोई घटना की बात सामने नजर नहीं आई है। यहां का प्रदर्शन शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ है।

खुली हुई दुकानों को जबरन बंद कराया

आपको बता दें कि एससी एसटी एक्ट को लेकर संसद में केंद्र सरकार के अध्यादेश के विरोध में कई जगह जबरदस्त हंगामा देखने को मिला है। कई जगह लोगों ने उपद्रव भी किया है और एससी एसटी के विरोध में आज बांदा में भी लोगों ने प्रदर्शन किया। सबसे पहले प्रदर्शनकारी शहर के जहीर क्लब मैदान में इकट्ठा हुए और फिर वहां से शहर की मुख्य जगहों और बाजारों में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने खुली हुई दुकानों को भी जबरन बंद कराया।

अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन के लिए मजबूर

प्रदर्शन कारियों ने कहा कि यह तो अभी शुरूआत है आगे यह लोग अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन के लिए मजबूर हो जाएंगे। उन्होंने कहा इस काला कानून के विरोध में आज ही लोग सड़कों पर उतरे हैं। यह किसी एक पार्टी नहीं बल्कि सभी पार्टियों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं और जब तक यह काला कानून वापस नहीं होता तब तक इनकी लड़ाई जारी रहेगी। इन्होंने कहा कि अगर इस काला कानून को खत्म नहीं किया जाता तो आने वाले चुनाव में यह लोग सभी पार्टियों के नेताओं को सबक सिखाने का काम करेंगे।

Ad Block is Banned