प्रेमी जोड़े को कुल्हाड़ी से मारकर जिंदा जलाया, 9 के खिलाफ एफआईआर दर्ज, 4 गिरफ्तार

ऑनर किलिंग के मामले में एक लड़की के घरवालों ने एक प्रेमी जोड़े को पहले बुरी तरह पीटा और इसके बाद दोनों को जिंदा जला दिया।

By: Neeraj Patel

Published: 06 Aug 2020, 08:59 PM IST

बांदा. जिले में ऑनर किलिंग के मामले में एक लड़की के घरवालों ने एक प्रेमी जोड़े को पहले बुरी तरह पीटा और इसके बाद दोनों को जिंदा जला दिया। दोनों की अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही मौत हो गई। फिलहाल पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है और अब तक युवती के पिता हुकमा, मां आशा, भाई लाखन और एक अन्य को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामला मटौंध थाना क्षेत्र के करछा गांव का है। भोला का गांव की ही युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। युवती ने बुधवार को भोला को मिलने के लिए अपने घर बुलाया था। इसकी भनक प्रेमिका के परिजनों को लग गई।

आक्रोशित परिजनों ने दोनों की जमकर पिटाई की और कुल्हाड़ी से हमला किया फिर उन्हें कमरे में बंद करके जिंदा जला दिया दिया। जानकारी के बाद स्थानीय लोगों और परिजनों ने आनन-फानन में दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। भोला और प्रियंका ने इलाज के दौरान ही दम तोड़ दिया। प्रियंका की गंभीर हालत को देखते हुए उसे कानपुर रेफर किया गया था।

मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को अस्पताल के लिए भिजवाया, लेकिन इससे पहले बुरी तरह जल चुके प्रेमी जोड़े में पहले प्रेमी और बाद में प्रेमिका ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। जब अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टर ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने पूरे मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है और आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

इस मामले में लड़की के घरवालों समेत 9 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, जिसमें दो आरोपियों की गिरफ्तारी देर रात कर ली गई। जिला अस्पताल में देर रात पूरा प्रशासनिक अमला मौजूद रहा। खुद डीआईजी, एसपी और डीएम समेत भारी कई पुलिस अफसर जिला अस्पताल में मौजूद रहे। बांदा रेंज के डीआईजी के. सत्यनारायण ने बताया कि दोनों एक दूसरे से प्रेम करते थे। इसी से आगबबूला लड़की के परिजनों ने उन्हें जिंदा जलाकर मार दिया। वहीं, लड़के के पिता ने बताया कि लड़के को धोखे से बुलाकर ऐसा किया गया।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned