"कुआँ-तालाब जियाओ अभियान" की हुई शुरुआत, दर्जनों महिलाओं ने किया दीपदान

Akansha Singh

Publish: Jul, 08 2019 10:34:33 AM (IST)

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बांदा. बुंदेलखंड की सरजमी सूखे की मार झेलने पर मजबूर है जहां इस वर्ष भीषण गर्मी के बढ़ते तापक्रम को देखते हुए बाँदा में भीषण पेयजल समस्या उत्पन्न हुई थी। वहीं जिला प्रशासनिक जिला अधिकारी द्वारा जल स्तर को बढ़ाने के संबंध में कवायद प्रारंभ करते हुए "कुआँ-तालाब जियाओ अभियान" चलाया जा रहा है। जिस पर आज ग्राम प्रधान मवई बुजुर्ग की अगुवाई में महिलाओं द्वारा कुओं पर दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम को आगे बढ़ाने का संकल्प लेते हुए कुएं और तालाब को स्वच्छ व साफ रखने की शपथ ली ।

बांदा जनपद में पानी की किल्लत को देखते हुए जिलाधिकारी द्वारा "कुआँ-तालाब जियाओ अभियान" चलाया जा रहा है और लोगों को पानी के महत्त्व को बताते हुए उसे बचाने की शपथ दिलाई जा रही है। बीते तीन-चार दिन पहले बाँदा जिलाधिकारी ने इस अभियान की शुरवात बाँदा के नवाब टैंक तालाब से की थी, जिस पर शहर वासियो और सभी प्रशासनिक अधिकारियो ने तालाब में दीप प्रज्जलित कर दीप दान किया था । जिलाधिकारी द्वारा सभी ग्राम प्रधानों को इस अभियान को आगे बढ़ाने का निर्देश दिया गया है, जिसके बाद से सभी तहसीलों व गाँव में ये अभियान तेजी पकड़ रहा है । इसी अभियान के तहत आज बांदा जनपद के मवई बुजुर्ग गाँव के प्रधान की अगुवाही में कुँए में दर्जनों महिलाओ ने दीप-दान किया व पानी को बचाने का संकल्प लिया । दीप प्रज्जलित कर दीप-दान करने के बारे में ग्रामीणों ने बताया की जिलाधिकारी द्वारा "कुआँ-तालाब जियाओ अभियान" चलाया जा रहा है, हमारे गाँव का नाम सुंदरीकरण के लिए दिया गया है, आज इसी अभियान के तहत गाँव की दर्जनों महिलाओ ने कुए में दीप प्रज्जलित कर इस अभियान को शुरू किया है और संकल्प लिया है की पानी को बचाएंगे और इसकी बर्बादी से बचेंगे ।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned