विद्युत आपूर्ति ठप्प होने पर किसानों ने पहाड़ी मार्ग पर लगाया जाम, किया जमकर प्रदर्शन

विद्युत आपूर्ति ठप्प होने पर किसानों ने पहाड़ी मार्ग पर लगाया जाम, किया जमकर प्रदर्शन

Mahendra Pratap Singh | Publish: Oct, 01 2018 02:49:24 PM (IST) | Updated: Oct, 01 2018 02:49:25 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

चित्रकूट बार्डर पर आज किसानों ने विद्युत आपूर्ति ठप्प होने के चलते बांदा पहाड़ी मार्ग पर जाम लगा दिया

बांदा. चित्रकूट बार्डर पर आज किसानों ने विद्युत आपूर्ति ठप्प होने के चलते बांदा पहाड़ी मार्ग पर जाम लगा दिया और विद्युत विभाग के खिलाफ घंटों तक नारेबाजी करते रहे। मौके पर पहुंची पुलिस ने जाम खुलवाने का प्रयास किया, मगर किसान नहीं माने इसके बाद पुलिस ने अतर्रा एसडीएम को सूचना दी गई, तब एसडीएम सौरभ मिश्रा ने मौके पर पहुंचकर किसानों को समझा बुझाकर जाम खुलवाया।

यह है पूरा मामला

बता दें कि केंद्र सरकार हो या प्रदेश सरकार हो किसानों की दोगुनी आय करने के बड़े-बड़े दावे और वादे कर रही है लेकिन बांदा, चित्रकूट बार्डर के किसानों की फसलें सूख रहीं हैं। समय से बिजली नहीं आ पाती लगभग 50 गांवों में विद्युत आपूर्ति ठप्प है। इसी के चलते आज क्षेत्र के किसानों ने सिंहपुर में बांदा पहाड़ी मार्ग को जाम कर दिया और घंटों नारेबाजी करते रहे। मौके पर पहुंची पुलिस ने जाम खुलवाने का प्रयास किया, मगर किसानों ने जाम नहीं खोला सूचना मिलने पर अतर्रा एसडीएम सौरभ मिश्रा ने मौके पर पहुंचकर किसानों को समझा बुझाकर जाम खुलवाया।

अधिकारियों को कई बार पत्र लिखकर कर चुके सूचित

किसानों ने बताया कि पहाड़ी पावर हाउस से लगभग 50 गांव में बिजली की सप्लाई होती है जिसमें आए दिन ट्रांसफार्मर खराब ही रहता है। हम लोगों की फासलें सूख रही हैं अगर बिजली बराबर आ जाए तो हम लोग फसलों की सिंचाई कर लेंगे। पहाड़ी पावर हाउस चित्रकूट जिले में पड़ता है मगर उसकी सप्लाई बांदा के सिंहपुर, परसेटा, अमिलिहा, पहड़िया इटवा जैसे लगभग दर्जनों गांव आते हैं जो बराबर सप्लाई नहीं मिल पाती है, आपरेटर से बात करते हैं तो कहते हैं कि ट्रांसफार्मर लोड नहीं उठा रहा है। गांव के लोगों ने कई बार उच्च अधिकारियों को पत्र के माध्यम से अवगत करा चुके हैं, मगर कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इसीलिए मजबूर होकर आज हमको जाम लगाना पड़ा है।

किसान आन्दोलन को बाध्य होंगे

अगर समय रहते हुए विद्युत आपूर्ति नहीं सुधरी तो सभी किसान आन्दोलन को बाध्य होंगे। पावर हाउस के आपरेटर मिश्री लाल ने बताया कि इस पहाड़ी पावर हाउस से लगभग 50 गांव जुड़े हैं जिसके कारण ट्रांसफार्मर लोड नहीं ले पा रहा है, हमने अपने उच्च अधिकारियों को सूचित कर दिया है जल्द ही समस्या का समाधान हो जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned