विकलांग लड़की को भाई ने घर से निकाला, तो पुलिस से लगाई न्याय की गुहार

विकलांग लड़की को भाई ने घर से निकाला, तो पुलिस से लगाई न्याय की गुहार

Mahendra Pratap Singh | Publish: Jul, 13 2018 03:38:54 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

विकलांग लड़की को भाई ने घर से बाहर निकाल दिया।

बांदा. जनपद में दिव्यांग युवती को बेघर करने का एक मामला सामने आया है जहां दिव्यांग लड़की और उसकी मां को खुद उसके भाई-भाभी ने बेघर कर दिया है, जिसके बाद दिव्यांग युवती अपनी मां के साथ दर-दर भटकने के लिए मजबूर है। इतना ही नहीं उसके भाई ने अपनी मां की जायदाद पर भी जबरन कब्जा कर लिया है। पीड़ित मां-बेटी ने एसपी कार्यालय में जाकर न्याय की फरियाद की है जिस पर लड़की को जांच उपरान्त न्याय दिलाए जाने का आश्वासन दिया गया है।

यह है मामला

मामला बांदा के तिंदवारी थाना क्षेत्र के गरौती का है, जहां 22 वर्षीय दिव्यांग युवती को उसकी मां के साथ उसके सगे भाई ने पुश्तैनी घर से बेदखल कर दिया है। यही नहीं दिव्यांग आरती और उसकी मां की पुश्तैनी जायदाद को भी दबंग भाई अमरपाल और उसकी पत्नी ने अपने नाम करवा लिया है। एसपी कार्यालय में अपनी फरियाद लेकर पहुंची पीड़ित मां-बेटी का कहना है कि उसके भाई और भाभी ने उनका जीना दूश्वार कर दिया है। पीड़िता ने अपने भाई से जान का खतरा होने को डर जताया है।

मां, भाई के साथ रहती है पीड़ित लड़की

पीड़ित लड़की ने बताया कि मां दोनों पैर से विकलांग है और अपने मां, भाई के साथ रहती है, मां ने मकान, खेती वगैरा सब लड़के के नाम कर दिया है व मेरी विकलांगता को देखते हुए गांव का कच्चा मकान उसके नाम कर दिया है। जिस पर उसके भाई और भाई द्वारा उसको प्रताड़ना किया जा रहा है, इनके द्वारा गाली-गलौज की जाती है व मकान खाली करने की धमकी दी जा रही है, बताया कि उसको और उसकी मां को भाई भाभी ने बाहर निकल दिया है। दो साल से हम लोग दर-२ की ठोकर खा रहे हैं। पर आज तक न्याय नहीं मिला।

पीड़िता की हरसंभव मदद की जाएगी

पीड़ित लड़की की मां ने बताया की हम सब परेशान हो चुके हैं और न्याय की उम्मीद लेकर आज अपर एसपी से मिले हैं और न्याय की गुहार लगाई है। वहीं इस मामले पर अपर एसपी का कहना है कि पीड़िता की शिकायत पर तिंदवारी पुलिस को त्वरित एक्शन लेने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि पीड़िता की हरसंभव मदद की जाएगी।

एक महीने पहले भी आया था ऐसा मामला

आपको बताते चले कि आज से कुछ महीने पहले भी एक विकलांग लड़की से बांदा पुलिस अधिकारिओं से परिजनों की प्रताड़ना का आरोप लगाया था जिसके कुछ समय उस लड़की की हत्या कर दी गई थी, जिसमें हत्यारा उसका सगा भाई निकला था और उस घटना में भी हत्या का कारण जमीनी विवाद था। इस वही अपर एसपी से उस घटना के बारे में पूछे जाने पर उनका कहना था की हर मामले में हत्या होना संभव नहीं है, पुलिस अपना काम करती है, बांकी हर भाई एक सा नहीं होता है।

Ad Block is Banned