रिश्वत के लिए किसानों को किया जा रहा परेशान, विभागीय अधिकारी कर रहे लापरवाही

- किसानों ने शहर की मंडी समिति धान विक्रय केन्द्र में धांधली, लापरवाही व रिश्वत मांगने का आरोप लगाते हुए हंगामा काटा।

By: Neeraj Patel

Published: 13 Nov 2020, 06:31 PM IST

बांदा. सरकार चाहे किसानों के हित की जितनी योजना निकाल दे पर विभागीय अधिकारियों की लापरवाही से किसान आज भी परेशान है। लॉकडाउन की मार झेल चुके किसानों ने शहर की मंडी समिति धान विक्रय केन्द्र में धांधली, लापरवाही व रिश्वत मांगने का आरोप लगाते हुए हंगामा काटा। किसानों की शिकायत पर जिलाधिकारी के निर्देश पर पहुंचे एसडीएम ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद किसान अपने गल्ला को लिए आस लगाए बैठे हैं।

मामला शहर के तिंदवारी रोड स्थित मंडी समिति का है जहां पर किसान अपने धान को लेकर एक हफ्ते से पड़ा है पर उनको कर्मचारियों द्वारा कभी कागज के नाम पर, कभी मानक और कभी रिश्वत के लिए परेशान किया जा रहा है। मंडी समिति में एक हफ्ते से परेशान किसानों ने जिलाधिकारी से गुहार लगाई तब जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम मंडी समिति पहुंचे व जांच का हवाला देते हुए किसानों की समस्या का निस्तारण का हवाला दिया। पीड़ित किसानों का कहना है कि हम अपने धान को लेकर एक हफ्ते से यहां पड़े है पर हमे परेशान किया जा रहा है, कभी हमसे कहा जाता है पेपर कंप्लीट नहीं, तो कभी मानक का हवाला दिया जाता है।

किसानों ने आरोप लगाया कि धान बेचने के लिए हमसे 2000 रुपए रिश्वत भी ली जा रही है, जो लोग दबंग है। उनका गल्ला तुरंत खरीदा जा रहा है और बाकी किसानों को परेशान किया जा रहा है। एसडीएम आए थे पर हमारी समस्या का अभी तक निदान नहीं हुआ है, वहीं एसडीएम का कहना है हमे धान विक्रय केंद्र में धांधली व लापरवाही की शिकायत मिली थी। जिस पर हमने यहां आकर कर्मचारियों को फटकार लगाई है, किसानों की समस्या का निदान किया जा रहा है।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned