बुंदेलखंड राज्य बनाने की आवाज बुलंद की

Ashish Kumar Pandey

Publish: Mar, 17 2019 08:18:43 PM (IST)

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बांदा. लोकसभा चुनाव की नजदीकियों को देखते हुए सरगर्मिया बढऩे लगी हैं। राजनीतिक व निजी दल अपने प्रत्याशिओं को चुनाव लड़ाने में लग गए हैं। बाँदा में बुंदेलखंड इंसाफ सेना के पदाधिकारियों ने बैठक कर लोकसभा चुनाव की रणनीति बनाई व घोषणा करी की अगर बुंदेलखंड का कोई भी प्रत्याशी या किसी भी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अपने घोषणा-पत्र पर बुंदेलखंड राज्य बनाए जाने के लिए नहीं दर्शाया तो बुंदेलखंड इंसाफ सेना बाँदा-चित्रकूट ही नहीं हमीरपुर, महोबा से भी चुनाव मैदान पर होंगे।

बांदा जनपद के बबेरु तहसील क्षेत्र के ग्राम आहार पर बुंदेलखंड इंसान सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष एस एस नोमानी की अध्यक्षता पर बैठक की गई जिसमें निर्णय लिया गया कि अगर बुंदेलखंड को राज्य बनाए जाने को लेकर बुंदेलखंड के लोकसभा के प्रत्याशी या किसी भी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अपने घोषणापत्र पर राज्य बनाए जाने को लेकर नहीं दर्शाया तो बुंदेलखंड इंसाफ सेना बाँदा-चित्रकूट वा हमीरपुर महोबा से चुनाव मैदान पर होगी । राष्ट्रीय अध्यक्ष एसएस नोमानी ने बताया कि पिछली बार 2014 के चुनाव पर भारतीय जनता पार्टी की नेत्री उमा भारती ने कहा था कि अगर भाजपा सरकार केंद्र में बनी तो बुंदेलखंड को राज्य 3 साल के अंदर बना दिया जाएगा, लेकिन उनकी सरकार बनने के बाद भी बुंदेलखंड को राज्य नहीं बना सके।
बुंदेलखंड राज्य बनाने के लिए पिछले 6 महीनों से बुंदेलखंड इंसाफ सेना के पदाधिकारियों द्धारा अनशन किया जा रहा है मगर इस बार के चुनाव पर बुंदेलखंड के प्रत्याशी व किसी भी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अपने घोषणा पत्र पर बुंदेलखंड राज्य बनाने के लिए नहीं दर्शाया तो इस बार के चुनाव पर बुंदेलखंड हिसाब सेना बाँदा-चित्रकूट ही नहीं बल्कि हमीरपुर महोबा से प्रत्याशी उतारेगी और चुनाव भी लड़ेगी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned