कोटेदारों ने किया बड़ा ऐलान, मांगें पूरी न हुई तो नहीं उठाएंगे राशन

कोटेदारों ने किया बड़ा ऐलान, मांगें पूरी न हुई तो नहीं उठाएंगे राशन

Neeraj Patel | Publish: Jan, 23 2019 11:56:35 AM (IST) | Updated: Jan, 23 2019 12:24:09 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

आल इंडिया फायर प्राइज शॉप डीलर्स फेडरेसन के तत्वधान में जिले के सभी विक्रेताओं ने राशन न उठाने का निर्णय लिया है।

बांदा. पूर्व घोषणा के अनुसार आल इंडिया फायर प्राइज शॉप डीलर्स फेडरेसन के तत्वधान में आज से जिले के सभी विक्रेताओं ने राशन न उठाने का निर्णय लिया है। कोटेदारो ने कहा की पूर्व में लखनऊ में बैठक में निर्णय लिया गया था जिसके तहत आज से हम अनिश्चित कालीन हड़ताल कर रहे हैं और जब तक शासन स्तर पर संगठन के कोटेदारों की समस्याओं से मुक्ति नहीं दिलाई जाती तबतक जनपद बांदा के समस्त उचित दर विक्रेतागण हड़ताल में शामिल रहेंगे एवं फरवरी माह से खाद्दान का उठान नहीं करेंगे।

कोटेदारों ने खाद्दान न उठाने की घोषणा की

आज आल इंडिया फायर प्राइज शॉप डीलर्स फेडरेसन के तत्वधान में जिले के सभी कोटेदारों ने जिलाधिकारी को कोटेदारो ने ज्ञापन सौंपकर अपनी मांगो को लेकर अनिश्चित कालीन हड़ताल करने व खाद्दान न उठाने की घोषणा की। एसोसिएसन के लोगों ने कहा हमारी मांगे है कि अन्य प्रदेशो की भांती उत्तर प्रदेश के कोटेदारों को 200 से 250 रु० प्रति कुन्टल लाभांस दिया जाए तथा 25000 से 30000 रु० दिया जाए या इसके बराबर लाभांस दिया जाए।

राशन मैन्युवल वितरण करने की मांग

उतर प्रदेश के समस्त दुकानदारों को खाद्दान व कैरोसिन ऑयल डोर स्टेप डिलेवरी के माध्यम से पूरी मात्रा में तौलकर तथा वारदाने के बोरे का वजन घटाकर दिलाया जाए। 2001 से अब तक प्रदेश के दुकानदारों का ए०पी०एल / बी०पी०एल अन्त्योदय रतथा एम्०डी०ए आदि का भाड़ा जो बकाया है उसे दिलाया जाए। कहा कि मृतक आश्रित व्यवस्था के अंतर्गत पूर्व की भांति दुकानदारों के आश्रितों को दुकानें आवंटित की जाए। दुकानदारों पर लगाए गए फर्जी मुक़दमों की निष्पछ जांच कराकर घोटाले के असली दोषी विभागीय अधिकारियों / आपेरटरों के विरुद्ध कार्रवाई कर निर्दोष दुकानदारों की जांच पुनः संचालित कराई जाये राशन दुकानदारों की जांच में मार्केटिंग विभाग को यह दायित्व न दिया जाए क्योंकि इन्ही के द्धारा घटतौली करके राशन दुकानदारों को खाद्दानं देते है।

अगर इन्हे जांच का आदेश दिया जाता है तो यह दुकानदारों का उत्पीड़न तथा शोषण करेंगे। प्रदेश में ई - पॉस मशीन लगाई गई हैं। मशीने पूरी तरह से फेल हैं। कहा कि मैन्युवल वितरण का आदेश दिया जाए। कहा कि जब तक शासन स्टार पर कोटेदारों की समस्याओं का निदान नहीं होता है तब तक जनपद बांदा के समस्त कोटेदार खाद्दान का उठान नहीं करेंगे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned