महिला शिक्षक शबनम ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, प्रेम-प्रसंग का मामला आया सामने

महिला शिक्षक ने विद्यालय के कमरे में फ़ांसी लगा ली, इससे पहले खंड विकास अधिकारी ने भी लगाई थी फ़ांसी

By: Neeraj Patel

Updated: 29 Mar 2019, 04:50 PM IST

बांदा. जिले में दो दिन के अंदर फ़ांसी लगाने की दूसरी बड़ी घटना घटित हुई है। बीते दिन खंड विकास अधिकारी के फ़ांसी लगाने के बाद आज महिला शिक्षक ने विद्यालय के कमरे में फ़ांसी लगा ली। विद्यालय स्टाफ की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने लाश को पोस्ट-मार्टम को भेज दिया है व घटना की जांच शुरू कर दी है। वही सूत्रों की मानें तो घटना का कारन प्रेम-प्रसंग बताया जा रहा है।

ये है पूरा मामला

आपको बता दें कि शबनम नाजमी झांसी के बरुआसागर की रहने वाली थी और 2016 में महुआ ब्लाक के छिवांव गांव में तैनाती हुई थी। शबनम का प्रेम-प्रसंग बरुआसागर (घर से सामने) के ही एक कुशवाहा बिरादरी के व्यक्ति से चल रहा था और 1 साल पहले शादी भी कर ली थी लेकिन अज्ञात कारणों के चलते अलग अलग भी हो गए थे और आज सुबह अपने तैनाती विद्यालय छिवांव में पंखे से लटककर शबनम ने फांसी लगाकर जान दे दी। जब 9 बजे साथी कर्मचारी विद्यालय पहुंचे तो शबनम का शव पंखे से लटक रहा था और दरवाजे अंदर से बंद थे। साथी कर्मचारियों ने दरवाजा तोड़कर पंखे से शबनम को उतारा और आनन-फानन में जिला अस्पताल में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने शबनम नाजमी को मृत घोषित कर दिया।

ग्रामीणों ने बताया कि आज सुबह शबनम जल्दी विद्यालय आ गई थी। फिर 2 घंटे बाद उसकी फांसी लगाने की जानकारी मिली। विद्यालय स्टाफ के लोगों ने बताया वो लोग विद्यालय पहुंचे तो कमरे दरवाजा अंदर से बंद था। दरवाजा तोडा गया तो शबनम की फांसी पर झूलती मिली, उसको नीचे उतारा गया तो उसकी सांसे चल रही थी। आनन-फानन उसे अस्पताल पहुंचाया गया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

बरुआसागर की रहने वाली थी शबनम

इस घटना के बारे में अपर एसपी ने बताया कि झांसी के बरुआसागर की रहने वाली थी शबनम नाजमी की 2016 में बांदा जनपद के महुआ ब्लाक के छिवांव गांव में तैनाती हुई थी। उसकी शादी भी हो चुकी थी, पर अपने पति से अलग हो गई थी, बताया कि शबनम ने आज विद्यालय कमरे में फ़ासी लगा ली थी, उसको अस्पताल पहुंचाया गया था जहा डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। बताया कि लाश को पोस्ट-मार्टम को भेज दिया गया है व घटना की जांच शुरू कर दी गई है।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned