महिला सिपाही की मौत ने पुुुलिस विभाग को ही कटघरे में किया खड़ा, थाने में मचा हड़कम्प

महिला सिपाही की मौत ने पुुुलिस विभाग को ही कटघरे में किया खड़ा, थाने में मचा हड़कम्प

Mahendra Pratap | Publish: Sep, 10 2018 12:53:29 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

महिला सिपाही की मौत ने खुद पुुुलिस विभाग को ही कटघरे में ला दिया है।

बांदा. बुुंदेेलखंंड के बांदा में महिला सिपाही की मौत ने खुद पुुुलिस विभाग को ही कटघरे में ला दिया है। महिला कांस्टेबिल की मौत पर थाना पुलिस की ख़ुदकुशी की थ्योरी खुद मृतका के परिजनों ने खारिज कर दी है। मृतका के परिजनों ने सीधे तौर पर महिला सिपाही की मौत को हत्या करार दिया है।

वहीं मामले की संवेदनशीलता को भांपते हुए बांदा एसपी ने एसओ कमासिन प्रतिमा सिंह को लाईन हाज़िर करते हुए प्रकरण की जांच के आदेश दिए हैं। परिजनों की मांग और आक्रोश देखते हुए मृतका के शव का पोस्टमार्टम मजिस्ट्रेट की निगरानी में डॉक्टरों के पैनल से कराया गया है। आज मृतिका के परिजनों ने बांदा एसपी से मिलकर मुक़दमा दर्ज कर अन्य जांच टीमों से जांच कराने की गुहार लगाई है।

बांदा पुलिस पर गंभीर आरोप

बांदा के कमासिन थाने में तैनात महिला सिपाही नीतू शुक्ला के परिजन आज सुबह बांदा पहुंचे और उन्होंने बांदा पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए नीतू की ख़ुदकुशी को खारिज करते हुए हत्या किए जाने और हत्या कर फांसी के फंदे में लटकाने की बात कही है। मृतका सिपाही के पिता खुद पुलिस विभाग हरदोई में एसआई के पद पर तैनात हैं और उनके मुताबिक नीतू की हत्या थाना परिसर में उसके आवास में की गई है।

मृतका के परिजनों ने साफ़ तौर पर कहा है कि मृतका के शरीर में चोट के निशान थे और पूरे शरीर में पका हुआ दलिया मिला है। साथ ही मृतका के गले में फांसी का निशान भी न होना साफ़ तौर पर हत्या ही साबित कर रहा है। परिजनों का कहना है कि एक दिन पूर्व मृतका ने अपने पिता से फ़ोन पर बात की थी जिसमें वह काफी सहमी हुई थी। वहीं ख़ास बात ये है कि जिस समय मृतका की ख़ुदकुशी पुलिस बता रही है। ठीक उसी समय थाने में मीटिंग चल रही थी।

कौशांबी की रहने वाली है नीतू शुक्ला

आपको बता दें कि बीते 3-4 दिन पहले बांदा के कमासिन थाने में तैनात महिला सिपाही नीतू शुक्ला का शव थाना परिसर आरक्षी आवास में दुपट्टे से फांसी पर लटका हुआ मिला था। ग्राम तुलसीपुर थाना मोहब्बतपुर जनपद कौशांबी की रहने वाली नीतू शुक्ला की इस थाने में 2017 में तैनाती हुई थी और इसी थाने में स्थित एक कमरे में महिला कांस्टेबल नेहा शुक्ला के साथ रहती थी। पुलिस की थ्योरी के मुताबिक़ देर शाम को उसने अंदर से कमरा बंद करके दुपट्टे के सहारे फांसी लगा ली। मौके पर पहुंचकर एसपी ने घटना स्थल का निरीक्षण किया था। पुलिस का कहना था कि महिला सिपाही तनाव में थी और बीमार चल रही थी, लेकिन आज मृतका के परिजनों ने पुलिस की कहानी को गलत बताते हुए हत्या का आरोप लगाया है।

जांच उपरान्त होगी सुनिश्चित कार्रवाई

आज मृतिका के परिजन बांदा एसपी से मिले व कहा की उनका मुक़दमा दर्ज किया जाए, थाना इंचार्ज प्रतिभा सिंह अभी भी थाने में तैनात है उनका तबादला मंडल के बाहर किया जाए, मृतिका के कमरे को सीज किया जाए, कहा की हमें यहां की पुलिस पर विश्वास नहीं है, अन्य जांच एजेंसिओं से इस पूरे मामले की जांच कराई जाएं। वहीं इस मामले में एसपी ने सख्त रुख अपनाया है। एसओ प्रतिमा सिंह को लाईन हाज़िर करते हुए एसपी एस आनंद ने मामले की जांच कराने के आदेश दिए हैं और मजिस्ट्रेट की निगरानी में डॉक्टरों के पैनल से मृतका के शव का पोस्टमार्टम कराया है। वहीं इस बारे में बांदा एसपी का कहना है की जांच की जा रही है, जांच उपरान्त ही सुनिश्चित कार्रवाई की जाएगी।

Ad Block is Banned