भगवान श्रीराम का आधार कार्ड मांगने पर विवादों में घिरे एसडीएम, लोगों ने ली चुटकी

SDM embroiled in controversy for asking Aadhar card of Lord Rama-रामराज्य वाले उत्तर प्रदेश में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। बांदा जिले में राम जानकी मंदिर के एक पुजारी से प्रशासन ने कथित तौर पर भगवान श्रीराम का आधार कार्ड मांग लिया।

By: Karishma Lalwani

Published: 09 Jun 2021, 01:43 PM IST

बांदा. SDM embroiled in controversy for asking Aadhar card of Lord Rama. रामराज्य वाले उत्तर प्रदेश में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। बांदा जिले में राम जानकी मंदिर के एक पुजारी से प्रशासन ने कथित तौर पर भगवान श्रीराम का आधार कार्ड मांग लिया। पुजारी के मुताबिक अतर्रा एसडीएम सौरभ शुक्ला ने मंदिर परिसर में लगी गेहूं की तैयार फसल को सरकारी क्रय केंद्र में बेचने के लिए श्रीराम का आधार कार्ड मांगा था। इसे न दिखा पाने पर ई-पोर्टल से गेहूं खरीद का सत्यापन रद्द करने का आरोप लगाया है।

भगवान श्रीराम का आधार कार्ड मांगने पर विवादों में घिरे एसडीएम, लोगों ने ली चुटकी

एसडीएम ने बयान से किया इंकार

अतर्रा तहसील के खुरहंड गांव में 40 बीघा जमीन की रजिस्ट्री राम जानकी मंदिर के नाम दर्ज है जिसमें बतौर संरक्षक पुजारी रामकुमार दास सारे काम देखते हैं। फसल बेचकर जो पैसे आते हैं उसी से मंदिर के पूरे साल के खर्चे निकलते हैं। लेकिन अब एसडीएम सौरभ शुक्ला ने मंदिर परिसर में लगी गेहूं की फसल को सरकारी क्रय केंद्र में बेचने के लिए भगवान श्रीराम का आधार कार्ड मांग लिया। मंदिर के पुजारी परेशान हैं कि वह भगवान श्रीराम का आधार कार्ड कहां से लाएं, उसका फिंगरप्रिंट कहां से लेकर आएं। इस प्रकरण पर अतर्रा एसडीएम (उपजिलाधिकारी) सौरभ शुक्ला का कहना है कि उन्होंने सरकार की क्रय नीति का हवाला देते हुए सरकारी क्रय केंद्र में फसल न खरीदे जाने संबंधी असमर्थता जताई थी। उनका कहना है कि भगवान का आधार कार्ड लाने वाली बात उन्होंने नहीं कही थी।

लोगों ने ली चुटकी

सरकार की डिजिटल क्रय नीति के कारण भले ही सरकारी खरीद केंद्र में गेहूं की बिक्री संभव न हो लेकिन भगवान श्रीराम का आधार कार्ड मांगा जाना लोगों में चर्चा का केंद्र बना हुआ है। लोगों ने भी इस पर चुटकी लेते हुए कहा कि यूपी के रामराज में कानून सबके लिए बराबर है वह फिर भले ही खुद भगवान श्रीराम ही क्यों न हों।

ये भी पढ़ें: खत्म हुआ इंतजार, बाबा विश्वनाथ के दर्शन के लिए खुले द्वार, वृदांवन में भी मंदिरों में दर्शन शुरू

ये भी पढ़ें: काशी विश्वनाथ में भक्तों के लिए कोरोना रिपोर्ट अनिवार्य नहीं, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ होंगे दर्शन

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned