परिवार संग गंगा दशहरा मनाने गई तीन लड़कियों की डूब कर मौत, देखें वीडियो

जिले में गंगा दशहरा पर परिजनों के साथ नहाने आईं चार बालिकाएं और एक बालक यमुना नदी में डूब गए

By: आकांक्षा सिंह

Published: 13 Jun 2019, 01:50 PM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बांदा. जिले में गंगा दशहरा पर परिजनों के साथ नहाने आईं चार बालिकाएं और एक बालक यमुना नदी में डूब गए जिसमें एक बालक व एक बालिका को बचा लिया गया व तीन बालिकाएं डूबकर मौत हो गयी। देर शाम तक खोजबीन के बाद दो बालिकाओं के शव नदी से बरामद हुए व तीसरी किशोरी का देर शाम तक कुछ पता नहीं चला। पुलिस के निर्देशन में गोताखोर ने तीसरी किशोरी बरामद किया।

मामला बांदा जनपद के मरका थाना क्षेत्र के अमिलिहा पुरवा का है जहां बुधवार को दिन में करीब 11 बजे तीन किलोमीटर की दूरी तय करके खेरा गांव के पास यमुना नदी आईं कुछ बालिकाएं नदी में नहा रहीं थीं। गंगा दशहरा पर्व के चलते यहां और भी महिलाएं व बालिकाएं थीं। इसी बीच 10 वर्षीय प्रीति, 11 वर्षीय शिखा, 12 वर्षीय ज्वाला व 7 वर्षीय धनंजय नदी के गहरे पानी में डूबने लगे। उन्हें बचाने के लिए 16 वर्षीय किरन भी गहरे पानी में चली गई जिसमें यह सभी नदी में डूब गए। नदी स्नान कर रहीं महिलाओं के शोर मचाने पर आसपास मौजूद लोगों ने तत्काल नदी में छलांग लगा दी और ज्वाला तथा धनंजय को जीवित अवस्था में पानी से बाहर निकाल लिया। इस बीच तीन बालिकाओं के डूबने की खबर फैलते ही कमासिन और मरका थाना प्रभारी फोर्स के साथ पहुंच गए। अपर एसपी एल बी के पाल, बबेरू एसडीएम महेंद्र प्रताप और क्षेत्राधिकारी कुलदीप सिंह भी मौके पर पहुंच गए। क्षेत्रीय विधायक चंद्रपाल कुशवाहा घटना स्थल पहुंच गए। पड़ोसी गांव औगासी से गोताखोर बुलाकर नदी में उतारे गए। लगभग एक घंटे की तलाश के बाद घटना-स्थल से करीब 200 मीटर दूर शिखा का शव चट्टान में फंसा मिला। इसके कुछ देर बाद गोताखोरों ने प्रीति का भी शव बरामद कर लिया। देर शाम तक किरन की तलाश जारी रही व देर रात उसका भी शव बरामद हो गया। डूबी तीनों बालिकाएं प्राथमिक स्कूलों की छात्राएं थीं व तीनों आपस में रिश्तेदार भी थीं। उधर एक साथ तीन मौतों पर अमिलिहा पुरवा में गंगा दशहरा मातम के पर्व में बदल गया।

 

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned