ग्रामीणों ने की कोटेदार को हटाने की मांग, राशन में जमकर हो रही धांधली

ग्रामीणों ने की कोटेदार को हटाने की मांग, राशन में जमकर हो रही धांधली

Neeraj Patel | Publish: Feb, 05 2019 11:19:07 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

जनपद में कोटेदारों के खिलाफ ग्रामीणों का प्रदर्शन लगातार होता चला जा रहा है लेकिन विभाग की अनदेखी से कोटेदारों पर कार्रवाई न होने से उनके हौसले बुलंद है।

बांदा. जनपद में कोटेदारों के खिलाफ ग्रामीणों का प्रदर्शन लगातार होता चला जा रहा है लेकिन विभाग की अनदेखी से कोटेदारों पर कार्रवाई न होने से उनके हौसले बुलंद है। आज बांदा जनपद के मवई बुजुर्ग गांव के ग्रामीणों ने कोटेदार व पर काला बाजारी का आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी कार्यालय में जमकर प्रदर्शन किया।

ग्रामीणों पर कोटेदार पर भ्रष्टाचार व राशन में धांधली का आरोप लगते हुए जिलाधिकारी को सौपकर कोटेदार के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। साथ ही कोटेदार का लाइसेंस रद्द करने को कहा है। ग्रामीणों ने कहा कि कोटेदार गल्ला लेने आए ग्रामीणों से बदसलूकी करता है और ग्रामीणों को राशन वितरण में गड़बड़ी करता है और रोकने पर अभद्र भाषा का प्रयोग करता है व हरजन एक्ट में फ़साने की धमकी भी देता है।

कोटेदार पर काला बाजारी का आरोप

जिले के बड़ोखर खुर्द ब्लाक क्षेत्र के मवई बुजुर्ग गांव के दर्जनों ग्रामीण आज बांदा कलेक्ट्रेट पहुंचे और गांव की कोटेदार रन्ना पर काला बाजारी का आरोप लगाते हुए जमकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को सम्बोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपकर कोटेदार के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। ग्रामीणों ने कोटेदार पर आरोप लगाते हुए कहा कि हम सभी मवई बुजुर्ग गांव के निवासी हैं। गांव का कोटेदार उचित दर विक्रेता द्वारा हर माह तेल एवं खाधान्न बेच लेता है।

दो लीटर की जगह 1 ही लीटर मिलता है मिट्टी का तेल

कार्ड धारकों से मनमानी तरीके से घटतौली की जाती है जो हर राशन कार्ड पर दो लीटर मिट्टी का तेल मिलता है लेकिन कोटेदार द्धारा एक लीटर ही दिया जाता है। कहा कि मिटटी का तक रेट से बढाकर 30 रु० लीटर एवं शेष बचा हुए तेल 40 रु० लीटर की दर से ब्लाक कर लेता है। पात्र गृहस्थी के राशन कार्ड पात्रों के नाम कटवाकर अपात्रों से 500 रुपए लेकर विभाग से सांठ-गांठ कर बनाकर दे देते हैं। कोटेदार द्धारा राशन कार्ड के नाम से अवैध वसूली की जाती है जो कार्ड धारक शिकायत करते हैं उनका राशन कार्ड से नाम काट दिया जाता है।

हरजन एक्ट में फसाने की धमकी देता है कोटेदार

ग्रामीणों ने बताया कि कोटेदार कहता है कि विभाग के बाबू एवं अधिकारी को हर माह पैसा देता हूं, मेरा क्या बिगाड़ लोगे। ग्रामीणों ने बताया कि कोटेदार कहता है जो मेरी शिकायत करेगा उसे हरजन एक्ट में फसा दूंगा, जिससे हम कोटेदार से भयभीत रहते हैं। साथ ही कहा की कोटेदार लगातार राशन में धांधली करता चला आ रहा है, कई बार इसकी शिकायत भी की गई पर जांच के नाम पर खानापूर्ति कर दी जाती है। कहा कि इन्ही समस्याओं को लेकर आज हमने जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया है व अनुरोध किया है की सार्वजानिक स्थल पर खुली बैठक बुलाकर उच्च अधिकारियों से जांच कराकर कोटेदार रन्ना की जांच करके कानूनी कार्रवाई करते हुए कोटा निरस्त करने की कृपा करें।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned