लगातार बारिश से यमुना नदी का बढ़ा जल स्तर, खतरे के निशान पर बह रही केन नदी

लगातार बारिश से यमुना नदी का बढ़ा जल स्तर, खतरे के निशान पर बह रही केन नदी

Mahendra Pratap Singh | Publish: Sep, 05 2018 02:25:17 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

जनपद से सटे मध्य प्रदेश के सतना, छतरपुर और पन्ना जिलों की घाटियों में लगातार बारिश से केन नदी व यमुना नदी का जल स्तर बढ़ने लगा है।

बांदा. जनपद से सटे मध्य प्रदेश के सतना, छतरपुर और पन्ना जिलों की घाटियों में लगातार बारिश हो रही है, इससे यहां केन नदी व यमुना नदी का भी जल स्तर बढ़ने लगा है। केंद्रीय जल आयोग के मुताबिक केन नदी में सोमवार सुबह तक 103 मीटर पर प्रवाह पहुंच गया है। शाम तक नदी खतरे का निशान भी पार कर सकती है। उधर, यमुना का भी जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है। सुबह 91.20 मीटर यमुना का जल स्तर रहा, जबकि शाम तक इसके बढ़कर बढ़कर 95 मीटर तक पहुंचने की संभावना है।

8 सेंटीमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से जल स्तर बढ़ रहा

केंद्रीय जल आयोग के पर्यवेक्षक सुरेश कुमार ने बताया कि यमुना में 8 सेंटीमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से जल स्तर बढ़ रहा है जबकि केन में जलस्तर बढ़ने की रफ्तार 18 सेंटीमीटर प्रति घंटा है। उन्होंने बताया कि यदि ऐसा ही रहा तो बुधवार शाम तक केन नदी खतरे के निशान को पार कर सकती है। उधर प्रशासन ने नदियों में लगातार बढ़ रहे जल स्तर को लेकर सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है। रात में राजस्व टीम व पुलिस ने नदियों के किनारे बसे गावों की स्थिति का जायजा लेकर एलर्ट जारी किया है। वहां बसे लोगों को ऊंचाई वाले क्षेत्रों में पहुंचने को कहा गया है।

गावों में बाढ़ की स्थितियां बन रही

एडीएम संतोष कुमार सिंह ने बताया कि मध्य प्रदेश से बाधों के जरिए रुक-रुक कर पानी छोड़ा जा रहा है, इससे जल स्तर बढ़ रहा है। प्रशासन बाढ़ से निपटने को पूरी तरह तैयार है, सभी जगह बाढ़ चौकिया सक्रिय कर दी गई हैं और कर्मचारी भी लगाए गए हैं। इसके साथ ही बताया कि मध्य प्रदेश की घाटियों में हो रही बारिश का असर केन और यमुना नदी में साफ दिख रहा है, दोनों नदियां उफान पर होने के साथ खतरे के निशान को छू रही हैं। आस-पास के गावों में बाढ़ की स्थितियां बन रही हैं, जिसके चलते पुलिस व राजस्व अधिकारियों ने नदी किनारे बसे गावों में अलर्ट जारी किया है और लोगों को बाहर निकालने का काम शुरू कर दिया है। केन में 18 व यमुना नदी का जल स्तर 8 सेंटीमीटर प्रति घटे की रफ्तार से बढ़ रहा है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned