स्वास्थ्य कर्मचारियों सहित 16 लाख कोरोना योद्धाओं को लगेंगे टीके

- पहली खुराक के 28 दिन बाद दूसरी

By: Nikhil Kumar

Published: 12 Jan 2021, 06:06 PM IST

बेंगलूरु. भारतीय कंपनियों द्वारा विकसित दो कोविड-19 वैक्सीन कोवैक्सीन और कोविशील्ड को शुरुआती चरण में तीन करोड़ लोगों को मुफ्त में दिया जाएगा और पूरी लागत केंद्र सरकार वहन करेगी। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और अग्रिम मार्चे पर तैनात अन्य कर्मचारियों सहित प्रदेश में 16 लाख कोरोना योद्धाओं का टीकाकरण किया जाएगा।

ये बातें स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने सोमवार कही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ विडियो कॉन्फेंसिंग में हिस्सा लेने के बाद वे मीडिया को संबोधित कर रहे थे। बैठक में मुख्यमंत्री बी. एस. येडियूरप्पा भी शामिल हुए।

डॉ. सुधाकर ने कहा कि पुलिस कर्मचारी और ग्रामीण विकास विभाग के कर्मचारियों सहित प्रदेश में 16 लाख कोरोना योद्धाओं को प्रारंभिक चरण में टीका लगाया जाएगा।

हर व्यक्ति को वैक्सीन का दो खुराक दिया जाएगा। पहली खुराक के 28 दिन के अंतराल पर दूसरी खुराक दी जाएगी। 45 दिन के बाद एंटीबॉडी विकसित होंगे। इसलिए 45 दिनों तक सावधानी बरतनी होगी।

डॉ. सुधाकर ने कहा कि वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है। लोगों को अनावश्यक घबराने की जरूरत नहीं है। वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल हुआ है। 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान शुरू होगा। राज्य सरकार इसके लिए पूरी तरह से तैयार है। केंद्र सरकार जल्द ही अतिरिक्त वॉक-इन फ्रीजर उपलब्ध कराएगी।

टीकारण के दूसरे चरण में 50 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों सहित उन लोगों को शामिल किया जाएगा जिनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की संभावना अधिक है।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned