पांच साइबर ठगों की गिरफ्तारी से सुलझे 200 मामले

cyber thug news: केंद्रीय अपराध शाखा (CCB) के साइबर अपराध पुलिस ने ओएलएक्स जैसी ऑनलाइन (ONLINE) साइटों पर सामान बेचने- खरीदने के नाम पर ग्राहकों को क्यूआर कोड स्कैनिंग (QR code scanning) कराकर धोखाधड़ी करने वाले पांच साइबर ठगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि इनकी गिरफ्तारी से लगभग २०० मामले हल हुए हैं।

बेंगलूरु. केंद्रीय अपराध शाखा (CCB) के साइबर अपराध पुलिस ने ओएलएक्स जैसी ऑनलाइन साइटों पर सामान बेचने- खरीदने के नाम पर ग्राहकों को क्यूआर कोड स्कैनिंग कराकर धोखाधड़ी करने वाले पांच साइबर ठगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि इनकी गिरफ्तारी से लगभग २०० मामले हल हुए हैं।

आरोपियों की पहचान राजस्थान के भरतपुर जिला निवासी करन सिंह (३५), अकरम खान (१८), हैरिस खान (२१), जमील (४२) और मजहर खान (२०) के तौर की गई है। कुछ दिन पहले साइबर अपराध पुलिस थाने में एक व्यापारी ने धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई थी। ओएलएक्स पर फर्नीचर की खरीदी करने के लिए आरोपियों ने विभिन्न नामों से परिचय कराया। सामान दिखाने के नाम पर व्यापारी को कुछ जगहों पर भेजा गया।

बाद में अग्रिम राशि ऑनलाइन भुगतान करने के लिए एक क्यूआर कोड स्कैन कर रुपए जमा कराने का विश्वास दिलाया जाता। हालांकि क्यूआर कोड स्कैन करने के बाद आरोपियों ने बैंक खाते से रुपए उड़ा लिए। आरोपियों ने इसी तर्ज पर कई लोगों को धोखा दिया था। इनके खिलाफ कुल २०० मामले दर्ज हैं।

आरोपियों ने जमील के खिलाफ चोरी के आठ मामले दर्ज हंै और उसे सजा भी हुई थी। वहीं करन सिंह बैंकिंग कामकाज से जुड़ा रहा है। हैरिस खान एक बैंक में काम करता था और वह फर्जी क्यूआर कोड को बनाने में माहिर है। मजहर और अकरम खान ग्राहकों के तौर पर लोगों को काल कर अपने जाल में फंसाते थे।

Anis Hameed Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned