बेंगलूरु. शहर के जे पी नगर इलाके के पुट्टेनहल्ली में स्थित सत्य गणपति मंदिर में इस बार गणेश पूजा के उपलक्ष्य में विघ्नहर्ता की 30 फुट ऊंची प्रतिमा गन्ने से बनाई गई है। 4 टन गन्ने से निर्मित इस प्रतिमा को 30 कलाकारों की टीम ने 21 दिन में तैयार किया है। प्रतिमा के सामने 4 हजार किलो का मोदक भी रखा जाएगा।

इस बार यहां गणेश को 4 हजार किलो वजन का लड्डू अर्पित किया जा रहा है। मंगलवार को सैकड़ों श्रद्धालुओं ने प्रतिमा और लड्डू का अवलोकन किया। लड्डू को बनाने के लिए 1000 किलो चने की दाल का आटा, 2000 किलो चीनी, 700 किलो तेल, 300 किलो घी 50 किलो काजू, 50 किलो किशमिश तथा 5 किलो ईलायची का उपयोग किया गया है।
आंध्र प्रदेश के हैदराबाद तथा महाराष्ट्र के मुंबई जैसे शहरों में ऐसी गणेश प्रतिमाएं बनाई जाती हैं। गत वर्ष हैदराबाद शहर में गन्ने से बनी 56 फीट ऊंची गणेश प्रतिमा को 4 हजार किलो वजन का लड्डू समर्पित किया था। बेंगलूरु शहर में पहली बार ऐसी प्रतिमा स्थापित की जा रही है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned