राज्य में एच1एन1 से अब तक 5 मौतें, 456 मरीज

राज्य में एच1एन1 से अब तक 5 मौतें, 456 मरीज

Ram Naresh Gautam | Publish: Oct, 13 2018 07:14:21 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

आगे से ऐसा न हो इसके लिए अस्पतालों को निर्देश दिए गए हैं

जिन अस्पताल में मौतें हुई, उसके निदेशक व स्वास्थ्य विभाग में मौत की सूचना को लेकर खींचतान जारी है

बेंगलूरु. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सेवा निदेशालय ने प्रदेश में एच1एन1 से पांच लोगों की मौत होने की पुष्टि की है। विभाग की ओर से शुक्रवार देर शाम जारी आंकड़ों के अनुसार बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका क्षेत्र में 2, बेंगलूरु (ग्रा) में 1, तुमकूरु में 1 और रामनगरम में 1 व्यक्ति की मौत एच1एन1 से हुई। जबकि इसके मरीजों की संख्या गुरुवार 441 से बढ़कर शुक्रवार शाम तक 456 पहुंच गई।

राष्ट्रीय मच्छर जनित बीमारी नियंत्रण कार्यक्रम के संयुक्त निदेशक डॉ. शिवराज सज्जन शेट्टी ने भी इन पांच मौतों की बात मानी लेकिन अब भी जिन अस्पताल में मौतें हुई, उसके निदेशक व स्वास्थ्य विभाग में मौत की सूचना को लेकर खींचतान जारी है। डॉ. शेट्टी के अनुसार अस्पताल ने मौत की सूचना नहीं दी।

इसलिए मौतों की पुष्टि में देरी हुई जबकि राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ चेस्ट डिजीजेज (आरजीआइसीडी) के निदेशक डॉ. सी.नागराज के अनुसार कारण सहित मौत की जानकारी जिला स्वास्थ्य अधिकारी को दी गई थी। आगे से ऐसा न हो इसके लिए अस्पतालों को निर्देश दिए गए हैं कि वे रिपोर्ट अब सीधे स्वास्थ्य विभाग को भेजें।


कलबुर्गी निवासी की हैदराबाद में मौत!
कलबुर्गी जिले के एक 45 वर्षीय व्यक्ति के एच1एन1 से मरने की खबर है। जानकारी के अनुसार मृतक गत 15 दिनों से बुखार और सांस संबंधित समस्याओं से ग्रसित था। हैदराबाद के एक निजी अस्पताल में उसका उपचार चल रहा था। शुक्रवार को उसकी मौत हो गई। जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. माधव राव के अनुसार मृतक लक्षीपुत्र मनुरे जिले के अफजलपुर का रहने वाला था। गांव व सोलापुर में शुरुआती उपचार के बाद उसे हैदराबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था। हालांकि एच1एन1 ही मौत का कारण है इसकी पुष्टि प्रदेश स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने नहीं की है। विभाग अगर पुष्टि करती है तो इस वर्ष एच1एन1 से यह छठी मौत होगी।

Ad Block is Banned