मानवीय संवेदना की मिसाल: बेटी की शादी के लिए रखे 50 लाख रुपए बाढ़ पीडि़तों को दिए

मानवीय संवेदना की मिसाल: बेटी की शादी के लिए रखे 50 लाख रुपए बाढ़ पीडि़तों को दिए

Santosh Kumar Pandey | Updated: 12 Aug 2019, 08:15:47 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

  • पीडि़तों के आंसू पोछने के लिए बढ़ाया हाथ
  • बेटी की शादी के लिए रखे रुपए दान कर दिए

बेंगलूरु. उत्तर कर्नाटक के कई जिलों में आई भीषण बाढ़ ने हजारों लोगों को बेघर कर करके उनकी आंखों में चिंता और आंसू भर दिए हैं और परोपकार व परमार्थ की संस्कृति वाले इस राज्य में लोगों की संवेदना को झकझोर दिया है। समूचे राज्य में बाढ़ पीडि़तों की मदद को लोग आगे आ रहे हैं। ऐसे में कर्नाटक मूल की मुंबई में रहनेवाली चिकित्सक डॉ सुमना राव ने मानवीय संवेदना की एक अनूठी मिसाल पेश की है। एक बड़ा फैसला लेते हुए उन्होंने राष्ट्रकवि मैथिली शरण गुप्त की अमर पंक्तियां यही पशु-प्रवृत्ति है कि आप आप ही चरे, वही मनुष्य है कि जो मनुष्य के लिए मरे, को जीवंत करते हुए मानवीय करुणा व उदारता को नई परिभाषा दी है।

डॉ राव ने अपनी बेटी की शादी के लिए रखे गए ५० लाख रुपए बाढ़ पीडि़तों की सहायता के लिए दान कर दिया है। उन्होंने यह राशि यह राशि मुख्यमंत्री के आपदा प्रबंधन कोष में जमा कर दी है। डॉ राव ने फेसबेक पर यह जानकारी देते हुए कहा है कि एक कन्नडिगा होने के नाते राज्य की संकट की घड़ी में यथासंभव मदद करना उनका सामाजिक दायित्व होने के कारण उन्होंने यह फैसला किया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned