चार माह के बालक सहित मिले नौ नए मरीज

- लगातार दूसरे दिन मरीजों की संख्या मेें रही गिरावट
- 427 मरीजों की अभी तक पुष्टि

By: Nikhil Kumar

Published: 23 Apr 2020, 12:02 AM IST

बेंगलूरु. राज्य में लगातार दूसरे दिन कोरोना के नए मामलों में गिरावट रही। बुधवार को नौ मामलों की पुष्टि के साथ राज्य में मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 427 हो गई। प्रदेश में चार महीने का शिशु (पी-424) कोरोना वायरस संक्रमण का शिकार हो गया है। वायरस की जद में आने वाला यह शिशु प्रदेश का सबसे छोटा मरीज है। इससे पहले सबसे कम उम्र का मरीज 10 महीने का बच्चा था जो ठी हो चुका है।

कलबुर्गी में बुधवार को सामने आए पांच मरीजों में यह शिशु (पी-424) भी शामिल है। बालक पुराने मरीज (पी-395) के संपर्क में आया था जबकि इसी मरीज के संपर्क में आने से 26 वर्षीय महिला मरीज (पी-425) भी संक्रमित हो गई। एक अन्य 35 वर्षीय महिला मरीज (पी-423), पुराने मरीज पी-393 के कारण संक्रमित हुई।कलबुर्गी के चौथे मरीज (पी-422) की उम्र 57 वर्ष है। सिवीयर एक्यूट रेस्पिरेटरी इंफेक्शन (एसएआरआइ) के कारण उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था जबकि पांचवीं मरीज (पी-421) की उम्र 46 वर्ष है। पूर्व में सामने आई मरीज (पी-222) के कारण वह भी संक्रमित हो गई।

इसके अलावा बेंगलूरु शहरी में एक महिला व एक पुरुष मरीज में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। एसएआरआइ के लक्षणों के साथ 54 वर्षीय पुरुष मरीज (पी-419) को भर्ती किया गया था जबकि 28 वर्षीय दूसरी महिला मरीज (पी-420), पुराने मरीज (पी-208, 32 वर्षीय पुरुष) के कारण संक्रमित हो गई। जानकारी के अनुसार पी-420 पेशे से एक नर्स है।

नंजनगुड फार्मा कंपनी कलस्टर में बुधवार को दो और मरीज जुड़े हैं। कुल मरीजों की संख्या 70 हो गई है। नए दो मामलों में 32 वर्षीय पुरुष मरीज (पी-427) कंपनी के पहले मरीज (पी-52) का द्वितीय संपर्क निकला। जबकि 59 वर्षीय दूसरा मरीज (पी-429) पुराने मरीज (पी-383) के कारण संक्रमित हुआ।

131 लोगों की बची जान
427 मरीजों में से 131 लोगों को बचाने में कामयाबी भी मिली। जांच निगेटिव आने के बाद इन सभी मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है। हालांकि, 17 लोगों की मौत हो चुकी है। बाकी 279 मरीजों का उपचार चल रहा है।

कलबुर्गी में सबसे ज्यादा मामले
प्रदेश में बुधवार को मिले नौ में से पांच मरीज अकेले कुलबुर्गी से हैं। यहां कुल मरीजों की संख्या 35 पहुंच गई है, जिनमें चार की मौत हो चुकी है। तीन स्वस्थ होने के बाद घर जा चुके हैं।

कलबुर्गी जिलाधिकारी बी. शरत ने कहा कि संक्रमित मरीजों के घरों के आसपास जिला प्रशासन ने पहले से ही कुल 14 कंटेनमेंट जोन बना रखे हैं। घर-घर सर्वेक्षण में स्वास्थ्य दल मंगलवार शाम तक 32 हजार 181 घरों तक पहुंचा। जांच के लिए भेजे गए 1516 नमूनों में से 800 नमूनों की रिपोर्ट लंबित है।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned