सिपाही पर चाकू से वार, पुलिस ने गोली चलाकर आरोपी को पकड़ा

सिपाही पर चाकू से वार, पुलिस ने गोली चलाकर आरोपी को पकड़ा

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Mar, 29 2018 05:46:25 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

उसे उपचार के लिए विक्टोरिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है

बेंगलूरु. कॉटनपेट और चामराजपेट पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई कर गोली चला कर एक कुख्यात अपराधी को गिरफ्तार किया है। उसे उपचार के लिए विक्टोरिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस के अनुसार निर्मल उर्फ रूपेश (36) ने विरोधी गिरोह के एक सदस्य अतुश की हत्या की योजना बनाई थी। पुलिस को सूचना मिली कि कुछ लोग चामराजपेट के डीयर पार्क के सामने श्मशान घाट में छिपे हंै। कॉटनपेट पुलिस थाने के पुलिस निरीक्षक बी.जी. कुमारस्वामी और चामराजपेट पुलिस थाने के पुलिस निरीक्षक एम. प्रशांत दल के साथ घटना स्थल पहुंचे और आरोपियों को गिरफ्तार करने की कोशिश की। कुछ आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गए।

चामराजपेट पुलिस थाने के पुलिस कांस्टेबल अब्दुल रहमान समाजकंटक किच्चा को गिरफ्तार करने आगे बढ़े तो उसने चाकू से हमला कर दिया। प्रशांत ने हवा में गोली चलाकर किच्चा को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा। किच्चा अंधेरे का फायदा उठाकर अब्दुल रहमान को धक्का देकर फरार हो गया। कॉटनपेट पुलिस थाने के पुलिस कांस्टेबल एम. कुमार ने निर्मल को गिरफ्तार करना चाहा तो उसने चाकू से हमला कर दिया। पुलिस निरीक्षक कुमारस्वामी ने सर्विस पिस्तौल से गोली चलाई।

गोली निर्मल के पैर में लगी और वह गिर पड़ा। उसे गिरफ्तार कर विक्टोरिया अस्पताल में भर्ती कराया। जख्मी दोनों पुलिस कांस्टेबल अब्दुल रहमान और कुमार को भी इसी अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने बताया कि निर्मल कुख्यात अपराधी है। उसके खिलाफ विभिन्न पुलिस थानों में आपराधिक मामले दर्ज हैं। वह गत तीन माह से व्यापारियों और राहगीरों को लूटता था। वह एक हत्या के मामले में भी वांछित था। जिला एवं सत्र न्यायालय ने उसे गिरफ्तार करने का वारंट के साथ प्रोक्लेमेशन बी जारी किया था। निर्मल व उसके मित्रों के खिलाफ चामराजपेट थाने में मामला दर्ज किया गया है।

फर्जी कंपनी के नाम पर लगाया करोड़ों का चूना, गिरफ्तार
बेंगलूरु. नगर पुलिस ने अनिवासी भारतीयों, सेवानिवृत सरकारी अधिकारियों और वरिष्ठ नागरिकों को करोड़ों रुपए का धोखा देने के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार को किया है। गिरफ्तार डी एस गणेश लैंडसन इंफ्रास्ट्रक्चर नामक कंपनी बनाकर लोगों को धोखा देता था। वह लोगों को अपनी कंपनी और जायदाद मेंं निवेश करने के लिए भारी मुनाफे का झांसा देता था। उसके जाल में फंस कर अनिवासी भारतीय राजेश रामचंद्रन को 13 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा। राजेश ने मल्लेश्वरम थाने में उसके खिलाफ शिकायत की थी। इस मामले की जांच की जिम्मेदारी पुलिस आयुक्त टी.सुनील कुमार ने केन्द्रीय अपराध जांच शाखा (सीसीबी) को सौंपी है।

दुष्कर्म के दोषी को सात साल की कैद
तुमकूरु. जिले के चतुर्थ अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय ने एक युवती से दुष्कर्म करने के आरोपी रंगनाथ (29) को दोषी करार देते हुए सात साल कठोर कारावास की सजा और २५,००० रुपए का जुर्माना मुकर्रर किया है। आरोपपत्र के अनुसार 4 मार्च 2017 को मधुगिरि तहसील के बोरागुंटे निवासी रंगनाथ ने खेत में काम कर रहे पिता को नाश्ता देने जा रही एक युवती पर हमला कर दुष्कर्म किया था। युवती ने बड़वनाहल्ली पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने युवती को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। महिला चिकित्सक ने पुलिस को सौंपी रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि की। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल किया था। न्यायाधीश बी.एन. लावण्या लता ने रंगनाथ को सात साल कठोर कारावास और जुर्माने की सजा सुनाई। न्यायालय से दी गई तारीख के अन्दर जुर्माना नहीं भरा तो अतिरिक्त एक साल की सजा होगी। जुर्माना राशि पीडि़ता को देने का आदेश दिया। सरकारी वकील एस.के. नारायण स्वामी ने मुकदमे की पैरवी की।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned