आचार्य महाप्रज्ञ का शताब्दी समारोह मनाया

मुनि सुव्रत कुमार व मुनि मंगलप्रकाश के सान्निध्य में शहर में आचार्य महाप्रज्ञ शताब्दी समारोह का आयोजन किया गया।

By: शंकर शर्मा

Published: 01 Jul 2019, 11:47 PM IST

कोप्पल. मुनि सुव्रत कुमार व मुनि मंगलप्रकाश के सान्निध्य में शहर में आचार्य महाप्रज्ञ शताब्दी समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत नवकार महामंत्र के साथ के साथ हुई। कोप्पल सभाध्यक्ष प्रमोद चोपड़ा ने उत्तर कर्नाटक से पधारे श्रावकों का स्वागत किया।


इस अवसर पर हुबली से मर्यादा महोत्सव समिति के संयोजक सोहन कोठारी, गदग से अमृतलाल कोठारी, चित्रदुर्ग से पुष्पराज बाफना, कोप्पल से राजेंद्र जीरावाला, हावेरी से वेलचंद जीरावला एवं हिरियूर से जयंतीलाल चोपड़ा सहित कई सदस्यों ने आचार्य महाप्रज्ञ के जीवन के बारे में प्रकाश डाला।

उत्तर कर्नाटक एरिया समिति के अध्यक्ष अस्वस्थ होते हुए भी कार्यक्रम में पहुंचे। उत्तर कर्नाटक एरिया महामंत्री सुरेश कोठारी ने अपनी भावनाएं प्रेषित करते हुए कहा कि 7 जुलाई को मुनि सुव्रत कुमार के गदग चातुर्मास प्रवेश पर पूरे उत्तर कर्नाटक के समाजबंधु उपस्थित रहें। मुनि सुव्रत कुमार ने कहा कि आचार्य महाप्रज्ञ के अवदानों को अपने जीवन में उतारने से ही उनकी जन्म शताब्दी सार्थक होगी।

मुनि ने विसर्जन की भावना पर जोर देते हुए कहा कि हर श्रावक को जीवन में विसर्जन की भावना रखनी चाहिए। अर्थ, पद और अहंकार के विसर्जन से जीवन मे निर्मलता आ सकती है। गदग महिला मंडल की गीतिका एवं कोप्पल महिला मंडल की कव्वाली ने पूरे सदन को सम्मोहित किया। कार्यक्रम का संचालन दिनेश संचेती ने किया। इसके बाद दोपहर 2 बजे उत्तर कर्नाटक एरिया तेरापंथ समिति की आमसभा मुनि के मंगलपाठ के साथ आयोजित हुई। एरिया समिति के महामंत्री सुरेश कोठारी ने आगंतुकों का स्वागत किया। परामर्शक सोहनराज कोठारी, पन्नालाल सुराणा रावतमल गोठी एवं महासभा प्रभारी उदयराज चौपड़ा मंचासीन थे।


एरिया समिति के चारों उपाध्यक्षों एवं पदाधिकारियों तथा महासभा समिति सदस्य केसरीचंद गोलछा का स्वागत किया गया। सुरेश कोठारी ने गत कार्यकाल में एरिया समिति के अंतर्गत हुई गतिविधियों के बारे में प्रकाश डाला। वर्तमान अध्यक्ष रामलाल ने अपनी अस्वस्थता के कारण इस्तीफा सौंपने का प्रयास किया लेकिन सभा ने इसे मंजूर नहीं किया। प्रथम उपाध्यक्ष वेलचंद जीरावला हावेरी को अध्यक्ष के सहयोगी के रूप में कार्याध्यक्ष नियुक्त किया गया। उपाध्यक्ष के रिक्त पद पर सर्वसम्मति से प्रसन्न नाहटा को नियुक्त किया गया है।


बैठक में आचार्य महाश्रमण की आगामी उत्तर कर्नाटक यात्रा के संबंध में विस्तार से कार्ययोजना पर चर्चा की गई। इस अवसर पर पुखराज तलेसरा, केसरीचंद गोलछा, महेन्द्र पालगोता, तखत गोलछा एवं कांतिलाल भंसाली ने अपनी-अपनी राय रखी। राजेंद्र जीरावाला ने आभार प्रकट किया और आमसभा का संयोजन सुरेश कोठारी ने किया।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned