'सर्व जन हिताय, सर्व जन सुखाय' का सूत्र अपनाएं: आचार्य उदयप्रभ

  • वासुपूज्य जैन संघ, माधवनगर में चातुर्मास प्रवेश

By: Ram Naresh Gautam

Updated: 21 Jul 2021, 06:24 PM IST

बेंगलूरु. वासुपूज्य जैन संघ, माधवनगर में मंगलवार को गणिवर्य समर्पणप्रभ विजय आदि ठाणा, साध्वी हितार्थरत्ना आदि ठाणा का मंगल प्रवेश आचार्य उदयप्रभ सूरीश्वर की निश्रा में हुआ।

आचार्य ने प्रवचन में कहा कि चातुर्मासिक आराधना को अंजाम देने के लिए संघ-प्रेम, सदगुरू-प्रेम, शास्त्र-प्रेम एवं सर्व जीव के प्रेम को महत्व देना अनिवार्य है।

वर्तमान के भौतिक सुख प्रेमी- जीव दो तरह के दोषों से घिरे हुए नजर आ रहे हैं, वे हैं जीव-द्वेष और जड-राग।

मोबाइल आदि मशीनरी यानी अचेतन चीजों के अनुराग में फंसा हुआ व्यक्ति चेतन यानी जीव-राशि के प्रति प्रेम का बर्ताव अक्सर चूक जाता है।

अत: जागरुकता से 'सर्व जन हिताय, सर्व जन सुखायÓ का सूत्र आत्मसात करने की जरूरत है। जिससे लोक कल्याण एवं आत्म कल्याण आसान बनेगा। अध्यक्ष मोहनलाल मरलेचा ने स्वागत किया।

सचिव प्रकाश पिरगल ने संचालन किया। पाठशाला का उद्घाटन सायरबाई शांतिलाल मरलेचा परिवार ने किया।

गुरु पूजन का लाभ सरिता बेन विजयभाई ने लिया। काम्बली ओढ़ाने का लाभ साध्वी के सांसारिक परिवार वालों ने लिया।

रंगोली एवं सजावट में विजय एवं गुणवंती का सहयोग रहा। संघ के उपाध्यक्ष सम्पतराज कोठारी, गौतम सुराना, कोषाध्यक्ष रमेश मरलेचा, ट्रस्टी मदनराज पिरगल, प्रकाश कोठारी, हीराचंद साकरिया, श्रीनिक पोरवाल, सुरेश खांटेड आदि उपस्थित थे।

इसके पहले वासुपूज्य महिला मंडल, मुक्ति पद्मावती महिला मंडल, शांतिनाथ महिला मंडल ने कलेश लेकर स्वागत किया। प्रवीण चौहान, जयेश कोठारी, युवराज वेदमूथा, निर्मल वेदमूथा, राजकुमार सोलंकी, भरत मेहता, गौतम शाह आदि ने सहयोग दिया।

Show More
Ram Naresh Gautam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned