बेंगलूरु में ही होगा एयरो इंडिया का आयोजन

बेंगलूरु में ही होगा एयरो इंडिया का आयोजन

Rajeev Mishra | Publish: Sep, 08 2018 05:54:32 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

खत्म हुई असमंजस की स्थिति, 20 से 24 फरवरी तक यलहंका वायुसैनिक अड्डे पर गरजेंगे युद्धक

बेंगलूरु. एशिया की सबसे बड़ी वैमानिकी प्रदर्शनी एयरो इंडिया एयर शो के आयोजन स्थल को लेकर बनी असमंजस की स्थिति अब खत्म हो गई है। रक्षा मंत्रालय ने शनिवार को स्पष्ट कर दिया कि एयरो इंडिया का आयोजन कहीं और नहीं, बल्कि बेंगलूरु स्थित यलहंका वायुसैनिक हवाई अड्डे पर ही होगा। वर्ष 1996 से इसका आयोजन बेंगलूरु में होता आया है और इस बार भी इसमें कोई बदलाव नहीं किया जा रहा है।
रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि बेंगलूरु के यलहंका वायुसैनिक अड्डे पर 12 वें एयरो इंडिया का आयोजन 20 से 24 फरवरी के बीच होगा। पांच दिनों तक चलने वाली इस प्रदर्शनी में रक्षा उपकरणों की प्रदर्शनी के साथ-साथ हर बार की तरह एयर शो का आयोजन भी किया जाएगा जिसका लुत्फ आम आदमी उठा सकेंगे। इस प्रदर्शनी में विमानन क्षेत्र की अग्रणी वैश्विक कंपनियों और निवेशकों के अलावा दुनिया भर के थिंक-टैंक भी शिरकत करेंगे। इससे विमानन क्षेत्र में हो रही प्रगति और नए विचारों को साझा करने में मदद मिलेगी। रक्षा मंत्रालय को उम्मीद है कि केंद्र सरकार के कार्यक्रम मेक इन इंडिया को भी इससे बढ़ावा मिलेगा।
इससे पहले एयरो इंडिया के आयोजन स्थल को लेकर असमंजस की स्थिति बन गई थी। पिछले एक महीने से इसे बेंगलूरु से स्थानांतरित कर लखनऊ स्थित बक्शी का तालाब (बीकेटी) वायु सैनिक अड्डे पर ले जाने की चर्चा थी। राज्य के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने इसे लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन सहित राज्य के सभी सांसदों को पत्र लिखा। वहीं, कांग्रेस नेताओं ने भी इसका मुखर विरोध किया। विभिन्न संगठनों ने भी इसके खिलाफ प्रदर्शन किया था।
दूसरी तरफ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुलकर एयरो इंडिया की मेजबानी की मांग की थी। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन के बयान से भी एयरो इंडिया के आयोजन स्थल को लेकर भ्रम की स्थिति बन गईथी। जब रक्षा मंत्री से इस संदर्भ में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि देश के कई राज्यों से एयरो इंडिया के आयोजन की मांग की जा रही है लेकिन, अभी अंतिम निर्णय नहीं किया गया है। उन्होंने डिफेंस एक्सपो के आयोजन स्थल में बदलाव का भी हवाला दिया जिससे बेंगलूरु से इसके स्थानांतरण की अटकलों को बल मिला। उधर, लखनऊ में जिला प्रशासन से लेकर वायुसेना तक एयरो इंडिया की तैयारियों में लगे थे। यूपी में रक्षा कोरिडोर शिलान्यास समारोह के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एयरो इंडिया के आयोजन की सार्वजनिक मांग तौर पर की थी लेकिन रक्षा मंत्री ने तिथि घोषित नहीं की।
दरअसल, एयरो इंडिया का आयोजन वर्ष 1996 से हर दूसरे साल बेंगलूरु के यलहंका हवाई अड्डे पर होता रहा है। पिछली बार एयरो इंडिया वर्ष 2017 में 14 से 18 फरवरी के दौरान किया गया था। अगली बार यह वर्ष 2019 में 20 से 24 फरवरी के बीच होगा। परंपरा के मुताबिक एयरो इंडिया के उद्घाटन समारोह में ही अगले आयोजन की तिथि घोषित कर दी जाती थी लेकिन पिछले दो बार से ऐसा नहीं हुआ जिसके कारण स्थानांतरण के कयासों को बल मिला। वर्ष २०१६ में भी एयरो इंडिया को गोवा स्थानांतरित करने की चर्चा थी।
कई कारणों से बीकेटी को नहीं मिली मेजबानी

 

aero india

सूत्रों के मुताबिक बक्शी का तालाब (बीकेटी) हवाई अड्डे पर एयरो इंडिया आयोजित नहीं किए जाने के पीछे कई वजहें रहीं। सबसे बड़ी वजह इस बड़े आयोजन के लिए आवश्यक स्थान की कमी रही। वर्ष 2016 में वायुसेना दिवस पर बीकेटी में एक एयर शो आयोजित किया गया था जिसे देखने करीब 5 हजार लोग आए जबकि बेंगलूरु के यलहंका वायुसैनिक अड्डे पर एक से डेढ़ लाख लोग एयर शो देखने आते हैं। बीकेटी हवाई अड्डे पर विमानों के लिए जगह भी कम थी। सूत्रों के मुताबिक एयर शो की तैयारी में लगे वायुसेना अधिकारियों ने बीकेटी से मिग विमानों का एक स्क्वाड्रन दूसरी जगह स्थानांतरित कर दिया था। फ्लाई पास्ट के लिए चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उपयोग करने की योजना थी वहीं बीकेटी में 6 0 से 70 विमानों की प्रदर्शनी की व्यवस्था हो रही थी। दूसरी बाधा यह थी कि एयरो इंडिया का आयोजन फरवरी में होता है लेकिन उस दौरान लखनऊ और उसके आसपास के क्षेत्र कोहरे व धुंध में घिरे रहते हैं। हालांकि, इसके चलते इसका आयोजन नवम्बर में ही करने की तैयारी थी।
उधर, रक्षा मंत्रालय की 40 सदस्यीय तकनीकी समिति ने रन-वे और एटीसी सहित सभी बिंदुओं की जांच कर रिपोर्ट सौंप दी थी। करीब 5 हजार विदेशी मेहमानों को होटलों में ठहराने और वायुसेना केंद्र तक पहुंचाने के लिए प्रशासन ने अपनी तैयारियों और योजना से भी अवगत करा दिया था। इस बड़े आयोजन की घोषणा का इंतजार था लेकिन शनिवार को रक्षा मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि फिर एक बार एशिया का सबसे बड़ा एयर शो बेंगलूरु में ही होगा।

Ad Block is Banned