कर्नाटक में एक महीने में जिलेटिन विस्फोट की दूसरी घटना, सीआइडी करेगी जांच

चिकबल्लापुर में छह मरे, मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजा, सीआइडी करेगी जांच

By: Jeevendra Jha

Published: 24 Feb 2021, 02:04 AM IST

बेंगलूरु. राजधानी बेंगलूरु से करीब 100 किलोमीटर दूर चिकबल्लापुर जिले के एक गांव में सोमवार देर रात जिलेटिन छड़ों को नष्ट करने के दौरान हुए विस्फोट में छह लोगों की मौत हो गई जबकि तीन लोग घायल हो गए। पिछले एक महीने के दौरान राज्य में इस तरह की यह दूसरी घटना है। पिछले महीने शिवमोग्गा में हुए ऐसे ही विस्फोट में भी छह लोगों की मौत गई थी। पुलिस ने घटना के कुछ ही घंटे बाद दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। गृह मंत्री बसवराज बोम्मई और जिला प्रभारी मंत्री डॉ के. सुधाकर ने भी मौके का दौरा किया। सरकार ने मामले की जांच अपराध अनुसंधान विभाग (सीआइडी) को सौंपने और मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा सहित विभिन्न दलों के नेताओं ने घटना पर शोक जताया है। विपक्षी दलों ने घटना को लेकर सरकार पर निशाना साधा।

पुलिस के मुताबिक घटना सोमवार रात करीब डेढ़ बजे गुडिबंडे तहसील के हिरेनागवल्ली गांव में हुई। पत्थर खदान के लिए अवैध तरीके से रखे गए जिलेटिन छड़ों और डेटोनेटर्स को नष्ट करने के दौरान विस्फोट हो गया। पुलिस छापे के डर से खदान चलाने वाले लोग अवैध तरीके से रखे गए जिलेटिन छड़ों को नष्ट करने के लिए मिनी टेंपो में ले जा रहे थे। पांच लोग टेंपो में सवार थे जबकि दो लोग मोटरसाइकिल पर थे। रास्ते में बॉक्सों में रखे जिलेटिन छड़ों और डेटोनेटर्स के टकराने के कारण विस्फोट हो गया। विस्फोट में छह लोगों की मौत हो गई जबकि टेंपो चालक रियाज घायल हो गया। मृतकों के शव बुरी तरह क्षत-विक्षत हो गए थे और यत्र-तत्र बिखरे थे।

पुलिस के मुताबिक मृतकों की शिनाख्त हिरेनागवल्ली गांव के रामू (26), गंगाधर (30), महेश (24), उमाकांत (35) अभि (28) और मुरुली (23) के तौर पर हुई है। ये सभी खदान में काम करते थे। टेंपों पर सवार 4 लोगों और बाइक पर सवार दो लोगों की मौत हो गई। खदान के दो कर्मचारी भी घायल हो गए। पुलिस ने होश में आने के बाद टेंपो चालक रियाज से पूछताछ की। स्थानीय विधायक व जिला प्रभारी मंत्री डॉ के सुधाकर और गृह मंत्री बसवराज बोम्मई के साथ ही अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) सीआर प्रताप रेड्डी, पुलिस महानिरीक्षक (मध्य प्रक्षेत्र) चंद्रशेखर, पुलिस अधीक्षक मिथुन कुमार, जिलाधिकारी आर. लता ने भी मौके का मुआयना किया। मुख्यमंत्री येडियूरप्पा ने कहा कि उन्होंने अधिकारियों को पूरे मामले की गहराई से जांच करने और दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। दिल्ली दौरे पर गए खान व भू-गर्भ मंत्री मुरुगेश निराणी शाम में बेंगलूरु लौटने के बाद हवाई अड्डे से सीधे घटनास्थल पर गए। दोपहर बाद विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्धरामय्या भी मौके का मुआयना करने पहुंचे। विधि विज्ञान प्रयोगशाला की टीम ने भी घटनास्थल से जांच के लिए नमूने लिए।

एक पखवाड़े में दो बार पड़ा था छापा
पुलिस के मुताबिक पत्थर तोडऩे के लिए अक्सर जिलेटिन छड़ों के उपयोग को लेकर स्थानीय लोगों की शिकायत के बाद 7 फरवरी को खनन का काम रुकवा दिया गया था। लेकिन, इसके बावजूद भी वहां काम चल रहा था। दुबारा शिकायत मिलने पर कुछ दिन पहले भी पुलिस ने छापा मारा था और जिलेटिन का उपयोग नहीं करने को लेकर चेताया भी था।
सूत्रों के मुताबिक रियाज ने पुलिस को बताया कि उसके साथ टेंपो मेें सवार लोगों के पास एक झोला था। उनलोगों ने झोले को हाथ में पकड़ रखा और मुझे जंगल की तरफ टेंपो लेकर चलने के लिए कहा। वहां पहुंचने के बाद मैं गाड़ी मेें ही बैठा रहा जबकि वे लोग निर्जन स्थान की ओर जाने लगे, इसी दौरान विस्फोट हो गया।

नियमों को बनाएंगे सख्त : मंत्री
इस बीच, निराणी ने कहा कि सरकार विस्फोटकों के उपयोग को लेकर सख्त नियम बनाएगी ताकि सिर्फ लाइसेंस धारक ही विस्फोटकों का उपयोग कर सकें। सरकार खनन क्षेत्र में काम करने वालों की सुरक्षा के लिए हरसंभव उपाय करेगी। उन्होंने चेकपोस्टों पर वाहनों की सघन जांच और विस्फोटकों के अवैध भंडारणों का पता लगाकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

दो गिरफ्तार, दो की तलाश
घटनास्थल का दौरा करने के बाद बोम्मई ने कहा कि घटन की जांच सीआइडी करेगी। उन्होंने कहा कि पुलिस ने इस मामले में खान के दो सीझीदारों- नागराज रेड्डी और शिव रेड्डी को गिरफ्तार किया है जबकि बाकी दो फरार साझीदारों- राघवेंद्र रेड्डी और नरसिम्हा मूर्ति की गिरफ्तारी के लिए विशेष दल का गठन किया गया है। ये चारों मिलकर खदान चलाते थे। बोम्मई ने कहा कि पुलिस ने जिले में अवैध तरीके से चल रहे कई खदानों पर छापे मारकर विस्फोटक सामग्री बरामद की थी। बोम्मई ने कहा कि इस मामले में खदान के साझीदारों के साथ ही विस्फोटक के आपूर्तिकर्ताओं को भी गिरफ्तार कर कार्रवाई की जाएगी।

Jeevendra Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned