महापौर के आश्वासन पर ग्रामीणों का प्रदर्शन खत्म

कई लोग डंपिंग यार्ड का विरोध नहीं कर रहे हैं

By: Ram Naresh Gautam

Published: 22 Jul 2018, 08:25 PM IST

बेंगलूरु. बोम्मनहल्ली और मंगम्मना पाल्या गांवों के लोगों ने महापौर संपतराज से आश्वासन मिलने के बाद अपना धरना खत्म कर दिया। संपतराज ने बताया कि कई लोग डंपिंग यार्ड का विरोध नहीं कर रहे हैं।

यहां उत्पादित गैस और उर्वरक कम दामों पर बेचे जा रहे हैं। बदबू रोकने के इंतजाम किए गए हैं। बोम्मनहल्ली ग्राम पंचायत के अध्यक्ष, सदस्यों और कुछ लोगों को विभिन्न डंपिंग यार्ड का दौरा कराया जाएगा। ग्राम पंचायत के अध्यक्ष और सदस्य ही बोम्मनहल्ली और मंगम्मनपाल्या गांवों के लोगों को विस्तृत जानकारी देंगे। उन्हें विश्वास है कि दोनों गांवों के लोगों को सच्चाई मालूम होने बाद कचरे का विरोध नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा कि लोग डंपिंग यार्ड में कचरा डंप करने से रोक रहे थे। इस कारण कचरे की लारियों को सड़क किनारे खड़ा करना पड़ा था। उन्होंने कहा कि बेंगलूरु से हर दिन बोम्मनहल्ली को 900 टन कचरा और मंगम्मनापाल्या को 700 टन कचरा डंप किया जाता है। बेंगलूरु के पूर्व, पश्चिमी और उत्तरी क्षेत्रों का कचरा दोड्डाबल्लापुर के टेर्रा फार्म में डंप किया जाता है।

मत्तिकेरे, यशवंतपुर, टी. दासरहल्ली, पीन्या, हेसरघट्टा, गोकुल ले आउट, बैटरायनपुर विद्यारण्यापुर और अन्य वार्ड का कचरा भी यहां डंप किया जाता है। इसी तरह यलहंका, यलहंका उपनगर, हेब्बाल, आर.टी.नगर, आनन्द नगर, बाणसवाडी, राममूर्ति नगर, के.आर.पुरम औरअन्य वार्डो का कचरा एम. एस. जी. पी. डंंपिंग यार्ड में डाला जाता है।

-------

ट्रेन निरस्त रहेगी
बेंगलूरु. बंगारपेट और बीइएमएल स्टेशनों के बीच ब्रिज निर्माण कार्य के चलते रविवार को बंगारपेट-मरिकुप्पम पैसेंजर ट्रेन निरस्त रहेगी। मरिकुप्पम-केएसआर बेंगलूरु पैसेंजर ट्रेन को मरिकुप्पम और बंगारपेट के बीच आंशिक निरस्त किया गया है।

-----

शाकाहार का वैज्ञानिक महत्व बताया
बेंगलूरु. तेरापंथ महिला मंडल राजाजीनगर के तत्वावधान में तेरापंथ कन्या मंडल की ओर से मुनि रणजीत कुमार व मुनि रमेश कुमार के सान्निध्य में तेरापंथ भवन में 'जैन लाइफ स्टाइल एण्ड हेल्थÓ कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में शाकाहार भोजन करने, उपवास करने, सामायिक ध्यान करने से होने वाले लाभ के बारे में चर्चा की गई। मुनि रणजीत कुमार ने कहा कि अहिंसा, संयम, खानपान की दृष्टि से जीवन शैली को स्वस्थ बना सकते हैं। मुनि रमेश कुमार ने शाकाहार का आध्यात्मिक वैज्ञानिक महत्व बताया। प्रारंभ में कन्या मंडल की बालिकाओं ने भिक्षु अष्टकम से कार्यशाला का शुभारंभ किया। महिला मंडल मंत्री उषा चौधरी ने स्वागत किया। कन्या मंडल प्रभारी मंजू पितलिया ने धन्यवाद दिया।

Show More
Ram Naresh Gautam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned