scriptaims to create 30 thousand new micro enterprises | एचसीजी महिलाओं के नेतृत्व में 30 हजार नए सूक्ष्म उद्यम बनाने का लक्ष्य | Patrika News

एचसीजी महिलाओं के नेतृत्व में 30 हजार नए सूक्ष्म उद्यम बनाने का लक्ष्य

  • कर्नाटक : मुख्यमंत्री कल करेंगे संजीवनी सरस राष्ट्रीय मेले का उद्घाटन

बैंगलोर

Updated: April 07, 2022 07:53:04 pm

बेंगलूरु. मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई बसवनगुडी स्थित नेशनल कॉलेज ग्राउंड में 8 अपे्रल से 18 अप्रेल तक आयोजित होने वाले स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) महिलाओं के संजीवनी सरस राष्ट्रीय मेले का उद्घाटन शुक्रवार शाम सात बजे करेंगे।

एचसीजी महिलाओं के नेतृत्व में 30 हजार नए सूक्ष्म उद्यम बनाने का लक्ष्य
एचसीजी महिलाओं के नेतृत्व में 30 हजार नए सूक्ष्म उद्यम बनाने का लक्ष्य

कौशल विकास, उद्यमिता और आजीविका मंत्री डॉ. सी.एन. अश्वथनारायण ने बुधवार को एक प्रेस वार्ता में कहा कि राज्य सरकार का लक्ष्य स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) महिलाओं के नेतृत्व में 30,000 और सूक्ष्म उद्यम बनाना है। फिलहाल इनकी संख्या 50 हजार है। इन एसएचजी महिलाओं के नेतृत्व वाले उद्यमों का एनपीए बहुत कम लगभग 0.1 प्रतिशत है।

उन्होंने कहा कि एनआरएलएम (राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन) और एनयूएलएम (राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन) के हिस्से के रूप में काम करने वाले विभिन्न राज्यों के एसएचजी मेले में भाग लेंगे। यह मेला देश भर में महिला उद्यमियों को अपने कौशल और उत्पादों का प्रदर्शन करने और उनके साथ बातचीत करने के लिए एक मंच प्रदान करेगा। विपणन कौशल सुधारने में भी मदद मिलेगी।

उन्होंने बताया कि मेले में लगाए जाने वाले 300 से अधिक स्टाल देश भर की महिलाओं के कौशल, क्षमता और कड़ी मेहनत को प्रदर्शित करेंगे और उत्पादों को बेचेंगे जिनमें हथकरघा, हस्तशिल्प, कलाकृतियां, विरासत उत्पाद, वस्त्र, आदिवासी उत्पाद, सजावटी वस्तुएं, धातु उत्पाद, मिट्टी के बर्तन, पेंटिंग, जैविक खाद्य पदार्थ, मसाले, प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद, सॉफ्ट टॉय, उपयोगी वस्तुएं, धातु उत्पाद, टेराकोटा उत्पाद, लकड़ी के उत्पाद सहित कई अन्य विशिष्ट वस्तुएं शामिल हैं। अखिल भारतीय फूड कोर्ट स्थापित किया जाएगा,जहां पूरे भारत के व्यंजन परोसे जाएंगे।

प्रतिभागियों में एनआरएलएम औरएनयूएलएम कार्यक्रमों के तहत कार्यरत कर्नाटक के 200 से अधिक एसएचजी और अन्य राज्यों के एसएचजी शामिल हैं।
मंत्री ने संजीवनी सरस का लोगो भी लॉन्च किया और कहा कि शाम के दौरान महिला कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की व्यवस्था मेले के हिस्से के रूप में की जाएगी। महिला प्रतिभागियों के कौशल में सुधार के लिए प्रशिक्षण कार्यशालाएं भी आयोजित होंगी। कॉरपोरेट्स के साथ राउंड टेबल चर्चा, खरीदार बैठकें, स्टार्ट-अप, एनजीओ कॉन्क्लेव आदि एक साथ आयोजित किए जाएंगे।

यह आयोजन जनता के लिए नि:शुल्क होगा और विभिन्न सरकारी विभागों और बैंकों के सूचना स्टालों को भी प्रदर्शित करेगा।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा ग्रामीण विकास मंत्रालय और आवास एवं शहरी विकास प्राधिकरण मंत्रालय के सहयोग से आयोजित होने वाला वार्षिक मेला, एसएचजी उत्पादों की एक राष्ट्रीय स्तर की प्रदर्शनी सह बिक्री है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

भीषण गर्मी : देश में 140 में से 60 बड़े बांधों का पानी घटा, राजस्थान के भी तीन बांधमंकीपॉक्स पर WHO की आपात बैठक में अहम खुलासा: यूरोप में अब तक 100 से अधिक मामलों की पुष्टि, जानिए 10 अपडेटJNU कैंपस में एमसीए की छात्रा से रेप, आरोपी छात्र गिरफ्तारकैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीमाता वैष्णो देवी के प्रमुख पुजारी अमीर चंद का निधन, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल सहित कई नेताओं ने जताया दुखज्ञानवापी मस्जिद केसः प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी पर हंगामा, DU में छात्रों का प्रदर्शन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.