वायुसेना करेगी 10 अंतरिक्षयात्रियों का चयन

वायुसेना करेगी 10 अंतरिक्षयात्रियों का चयन

Rajendra Shekhar Vyas | Updated: 11 Feb 2019, 09:08:56 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

पहले दो चरण का प्रशिक्षण भी देश में, अंतिम चरण का प्रशिक्षण विदेश में

बेंगलूरु. देश के पहले मानवयुक्त अभियान गगनयान के लिए 10 अंतरिक्ष यात्रियों के चयन और प्रशिक्षण की जिम्मेदारी वायुसेना को सौंपी गई है। इसरो अध्यक्ष के.शिवन ने कहा है कि अंतरिक्षयात्रियों के चयन और प्रशिक्षण के लिए सभी मानदंड तय कर वायुसेना को सौंप दिए गए हैं।
उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष यात्रियों को पहले दो चरण का प्रशिक्षण वायुसेना के इंस्टीट्यूट ऑफ एयरोस्पेस मेडिसिन (बेंगलूरु) में दिया जाएगा। अंतिम चरण के प्रशिक्षण के लिए उन्हें विदेश भेजा जाएगा। विदेश में प्रशिक्षण के लिए रूस और फ्रांस जैसे दो-तीन देश हैं। लेकिन, अंतिम रूप से इस पर अभी फैसला नहीं हुआ है। इसरो चाहता है कि 10 यात्रियों का चयन और प्रशिक्षण हो। इनमें से तीन का चुनाव अंतिम रूप से होगा।
दरअसल, इंस्टीट्यूट ऑफ एयरो स्पेस मेडिसिन दक्षिण-पूर्व एशिया का एक ऐसा संस्थान है जहां एयरोस्पेस मेडिसिन में अनुसंधान तो होता है, पायलटों को प्रशिक्षित भी किया जाता है। संस्थान ने 198 0 के दशक में भारत-सोवियत रूस के अंतरिक्ष कार्यक्रमों को चिकित्सकीय सहायता प्रदान की थी। गौरतलब है कि इसरो दिसम्बर 2021 में देश का पहला मानव अंतरिक्ष मिशन गगनयान लांच करने की योजना पर काम कर रहा है। इसके लिए इसरो ने मानव अंतरिक्ष उड़ान केंद्र की भी स्थापना की है ताकि परियोजना तेजी से आगे बढ़े।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned