छत पर चल रहे पब और रेस्तरां होंगे बंद

मुंबई की घटना का असर, काम में लापरवाही बरतने वाले दो अधिकारी निलंबित

बेंगलूरु. बेंगलूरु विकास मंत्री के जे जार्ज ने मंगलवार को ही पालिका के अधिकारियों को चेतावनी दी थी कि कर्तव्य में लापरवाही करने वाले अधिकारियों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और दो वरिष्ठ अधिकारियों को सेवा से निलंबित कर स्पष्ट संकेत दे दिया है। पालिका के पूर्व क्षेत्र के वरिष्ठ स्वास्थ्य निरीक्षक सगायन राज और कृष्णवर्धन को सेवा से निलंबित कर अगले एक साल के लिए पदोन्नति और अन्य विशेष भत्तों को रोके रखने के निर्देश भी दिए हैं। दोनों अधिकारियों को पूर्व क्षेत्र के अंतर्गत सभी वार्डों में कचरा निस्तारण की जिम्मेदारी दी थी। जार्ज अपने निवास को लौटते समय भारती नगर में कई जगहों पर गंदगी और कचरे के ढेर देखेऔर दोनों अधिकारियों से संपर्क करना चाहा तो दोनों के सरकारी मोबाइल फोन बन्द थे। जार्ज ने पालिका के आयुक्त एन मंजुनाथ प्रसाद को कचरा निस्तारण और सफाई का ठेका लेने वाले ठेकेदार पर भी पांच लाख रुपए का जुर्माना लगाने के निर्देश दिए हैं।
जार्ज के आदेश पर पालिका के स्वास्थ्य अधिकारियों ने छत पर चल रहे (रूफ टॉप) पब, बार एण्ड रेस्तरां पर छापे मारे। अवैध रूप से चल रहे नौ पब बन्द कर नोटिस लगाई गई। कई पब में हुक्का सेवन करते देखा गया। लावेल्ली रोड स्थित एक पब में हुक्का सेवन करने परइस पब के मालिक को पांच लाख रुपए का जुर्माना लगाया और इसे बन्द करने भी निर्देश दिया गया।
महापौर संपतराज ने संवाददाताओं को बताया कि मुंबई की एक होटल में आग लगने के बाद कई लोग हताहत हुए थे।
अग्निशमन बल, नागरिक सुरक्षा, आपात सेवाओं और गृह रक्षक निदेशालय के पुलिस महानिदेशक एमएन रेड्डी ने इस वारदात को गंभीरता से लेकर पालिका के अंतर्गत चल रहे पब और रेस्तरां पर छापे मार कर ग्राहकों की सुरक्षा के लिए किए गए बन्दोबस्त का निरीक्षण किया। कई पब और रेस्तरां में ग्राहकों की सुरक्षा के लिए कोई भी बन्दोबस्त नहीं करने पर कार्रवाई करने के लिए पालिका से सिफारिश की थी। इसके बाद गत दो दिनों में ४५ से अधिक पब और रेस्तरां पर छापे मारे गए। एक पब या रेस्तरां के लिए अनुमति नहीं ली गई थी। यहां कई अवैध गतिविधियां चल रही थीं। शराब की आपूर्ति के लिए युवतियों का इस्तेमाल किया जा रहा था।
देर रात इन युवतियों को उनके निवास को पहुंचाने के लिए भी किसी तरह की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं कराई गई थी। छत पर पब और रेस्तरां चलाने पर किसी को पता नहीं चलता था। इसलिए देर रात तक शराब की बिक्री और आपूर्ति के अलावा लाइव बैण्ड भी चलता था। छत पर चल रहे सभी पब और रेस्तरां को बन्द किया जाएगा। अगर पालिका से लाइसेंस दिया गया है तो इसे रद्द किया जाएगा। पब और रेस्तरां में कार्यरत ९६ युवतियों की रक्षा की गई है। इस मामले में कानूनी कार्रवाई करने के लिए पुलिस आयुक्त टी सुनील कुमार से सिफारिश की गई है। यह सब पुलिस की निगरानी में चलाए जाने का पता चला है। पुलिस की जांच के बाद ही इसका पता चलेगा।

कुमार जीवेन्द्र झा Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned