कोरोना की रोकथाम,आवश्यक कदम उठाए: सीएम

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु ने कहा कि कोरोना संक्रमित लोगों के उपचार ेके लिए सभी जिला व तालुक स्तर के सरकारी अस्पतालों में 10-10 पृथक बैड की व्यवस्था की गई ैहै। बेंगलूरु में बीएसएफ मुख्यालय में 300 बैड व सेना मुख्यालय पर 150 बैड आरक्षित रखे गए हैं और वे 24 घंटे हालात पर नजर रखे हुए हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना पीडि़त इटली में फंसे कन्नडिग़ा विद्यार्थियों को वापस लाने के संबंध में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवद्र्धन व विदेश मंत्री जयशंकर के साथ उन्होंने पहले ही बातचीत की है। उन्ह

By: Surendra Rajpurohit

Published: 13 Mar 2020, 08:40 PM IST

बेंगलूरु

मुख्यमंत्री बी.एस. येडियूरप्पा ने कहा कि राज्य भर में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए गए हैं और प्रत्येक जिला मुख्यालय पर इस रोग की जांच के लिे प्रयोगशालाएं स्थापित करने के कदम उठाए गए हैं लिहाजा आमजन को इस बारे में चिंतित होने की जरुरत नहीं है।

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को यहां विधानसभा में शून्यकाल के दौरान प्रियांक खरगे द्वारा उठाए मसले का स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु के जवाब देने के लिए दखल करते हुए कहा कि इस वायरस की रोकथाम के लिए कोई भी कदम उठाने में सरकार पीछे नहीं है पूरी ईमानदारी के साथ तमाम एहतियाती कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस वायरस के संक्रमण से कलबुर्गी में हुई एक जने की मौत की घटना वास्तव में एक आघातकारी घटना है। उन्होंने कहा कि कलबुर्गी में एक वय्क्ति की मौत के बाद वहां पर भी एहतियाती कदम उठाए गए हैं और वहां पर स्कूल कालजों में अवकाश घोषित करने के साथ ही वहां पर होने वाले शरणबसप्पा मेले को रद्द करने के जिलाधिकारी को निर्देश दिए गए हैं।

लोगों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए स्वास्थ्य विभाग कटिबद्ध होकर काम कर रही है और विभाग में सभी स्थाई व अस्थाई कर्मचारियों के अवकाश रद्द कर दिए गए हैं। राज्य में 5 जने इस रोग से संकमित हुए हैं जिनमें से एक जने की मौत हो चुकी है। शेष चार जने विदेश से लौटे हैं और आइसोलेशन वार्ड में उपचार चल रहा है। उन्होंने कहा कि हालात पर विचार करने के लिए दोपहर में विशेषज्ञ चिकित्सकों की बैठक बुलाई गई है और बैठक में व्यक्त की जाने वाली राय का पालन किया जाएगा। लोगों को भी सफाई बनाए रखने सहित कुछ एहतियाती कदम उठाकर सरकार के साथ सहयोग करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि मोहम्मद हुसैन सिद्दिकी की मौत के मद्देनजर उनके परिवार के सदस्यों व मित्रो की भी पृथक स्थान पर रखकर जांच करके उनका उपचार किया जा रहा है।

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु ने कहा कि कोरोना संक्रमित लोगों के उपचार ेके लिए सभी जिला व तालुक स्तर के सरकारी अस्पतालों में 10-10 पृथक बैड की व्यवस्था की गई ैहै। बेंगलूरु में बीएसएफ मुख्यालय में 300 बैड व सेना मुख्यालय पर 150 बैड आरक्षित रखे गए हैं और वे 24 घंटे हालात पर नजर रखे हुए हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना पीडि़त इटली में फंसे कन्नडिग़ा विद्यार्थियों को वापस लाने के संबंध में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवद्र्धन व विदेश मंत्री जयशंकर के साथ उन्होंने पहले ही बातचीत की है। उन्होंने कहा कि मास्क की कालाबाजारी करने का दवा दुकानों के लायसेंस रद्द किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि देवेनहल्ली स्थित केम्पेगौड़ा व मेंगलूरु के बाजपे हवाई अड्डे पर विदेश से आने वाले सभी लोगों के स्वस्थ्य की जांच की जा रही है।

दोनों हवाईअड्डों पर पहुंचे क्रमश 85 हजार व 30 हजार सहित कुल 1.25 लाख यात्रियों के स्वास्थ्य की जांच की गई है। कलबुर्गी के सिद्दकी के उपचार में स्वास्थ्यकर्मियों ने कोई कोताही नहीं बरती है। उनके परिवार के 25 जनों को पृथक वार्ड में भर्ती करवाकर उनके स्वास्थ्य की जांच की जा रही है। इससे पहले विपक्ष के नेता सिद्धरामय्या,प्रियांक खरगे सहित अन्य सदस्यों ने राज्य सरकार से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सभी एहतियाती कदम उटाने, जिला मुख्यालयों पर लैब खोलने और लोगों में व्याप्त चिंता को दूर करने के कदम उठाने की मांग की।

Corona virus
Surendra Rajpurohit Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned