बापू को नमन करता नजर आ रहा हर फूल

मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने कहा कि पुष्प प्रदर्शनी के माध्यम से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन चरित्र जन-जन तक पहुंचाने का प्रयास किया है। यह प्रदर्शनी ऐसे समय में आयोजित की गई है, जब देश महात्मा गांधी की १५०वीं जयंती मना रहा है।

By: Santosh kumar Pandey

Updated: 19 Jan 2019, 04:23 PM IST

लालबाग में पुष्प प्रदर्शनी
बेंगलूरु. मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने कहा कि पुष्प प्रदर्शनी के माध्यम से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन चरित्र जन-जन तक पहुंचाने का प्रयास किया है। यह प्रदर्शनी ऐसे समय में आयोजित की गई है, जब देश महात्मा गांधी का १५०वीं जयंती मना रहा है।

इससे पूर्व उन्होंने श्वेत कबूतर उड़ाकर प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। प्रदर्शनी २६ जनवरी तक चलेगी। प्रदर्शनी में साबरमती आश्रम, तीन बंदर, बापू कुटी, दांडी यात्रा की प्रतीक प्रतिमाएं, चरखा आदि का प्रदर्शन किया गया है। जिनमें लगा हुआ हर फूल मानों राष्ट्रपिता को नमन कर रहा था।
मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि बागवानी विभाग का कृषि विभाग में विलय करने का सवाल ही पैदा नहीं है। सरकार कृषि के साथ बागवानी क्षेत्र को भी प्रमुखता देगी। अगले बजट में कृषि और बागवानी विभाग के लिए कई नई योजनाओं और कार्यक्रमों की घोषणा होगी। सरकार इसी साल से विभिन्न किस्मों के फलों की उन्नत पैदावार पर संबंधित किसानों को प्रोत्साहित करेगी। रासायनिक दवाओं के कम प्रयोग और अधिक उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए सब्सिडी दी जा रही है, जिसके लिए १० करोड़ रुपए जारी किए हैं। इस बारे में अधिकांश किसानों को जानकारी देने के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। प्रदेश भर में ९२ किसान उत्पादक संगठन स्थापित किए गए हैं। उनमें ७६ संगठनों के लिए १६.८७ करोड़ रुपए जारी किए हैं। इससे ८५,००० किसान लाभ उठा रहे है।
बागवानी मंत्री एमसी मनगोली, महापौर गंगाम्बिका, विधान परिषद के सदस्य टीए शरवण, बागवानी विभाग सचिव महेश्वर राव, बागवानी विभाग के निदेशक, अतिरिक्त निदेशक, उप निदेशक, गांधीवादी कार्यकर्ताओं सहित कांग्रेस के पदाधिकारी व कार्यकर्ता गले में सूत की तिरंगी माला पहने प्रदर्शनी में उपस्थित थे।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned