तेज हुई मंत्रिमंडल विस्तार की कवायद, येडि से मिले संतोष

विधायकों ने की भेंट: उपमुख्यमंत्री पदों को लेकर असमंजस बरकरार

बेंगलूरु. मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चाओं के बीच भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष ने मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा से उनके आवास पर मुलाकात की। संतोष ने येडियूरप्पा से उनके डॉलर्स कॉलोनी स्थित आवास पर मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच करीब 20 मिनट तक बातचीत हुई। विधानसभा उपचुनाव के बाद दोनों नेताओं की यह पहली मुलाकात थी। बताया जाता है कि दोनों नेताओं के बीच मंत्रिमंडल विस्तार सहित अन्य मसलों पर चर्चा हुई। संतोष ने बाद में उपमुख्यमंत्री पद के दावेदार स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलू सहित कुछ विधायकों से भी पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में भेंट की। हालांकि, उपमुख्यमंत्री पदों को लेकर अभी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। कांग्रेस और जद-एस छोड़कर आने वाले नेताओं का खेमा वादे के मुताबिक दो और उपमुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहा है लेकिन पुराने भाजपा नेताओं का एक खेमा उपमुख्यमंत्रियों की संख्या बढ़ाने के बजाय मौजूदा तीन पदों को ही खत्म करने की मांग कर रहा है।
श्रीरामुलू के समर्थन में उतरे सोमशेखर
सोमवार को उपमुख्यमंत्री पद के दावेदार मोलकालमुरू से विधायक श्रीरामुलू के समर्थन में बल्लारी के विधायक सोमशेखर रेड्डी भी उतर आए। सोमशेखर ने श्रीरामुलू को उपमुख्यमंत्री बनाने की मांग का समर्थन किया। श्रीरामुलू ने प्रदेश भाजपा कार्यालय जाकर संतोष से भेंट की। सूत्रों के मुताबिक श्रीरामुलू ने पिछले साल विधानसभा चुनाव के समय किए वादे के मुताबिक खुद को उपमुख्यमंत्री बनाने की मांग की। श्रीरामुलू ने रविवार को कहा था कि उनके समर्थक उन्हें उपमुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं। संतोष से मुलाकात के बाद श्रीरामुलू ने कहा कि पूरे राज्य में उन्हें उपमुख्यमंत्री बनाने की मांग उठ रही है और इस आवाज को अनसुना करना लोगों को निराश करना होगा। श्रीरामुलू ने कहा कि वे इस प्रस्ताव के लिए ना नहीं कर सकते क्योंकि इससे मेेरे लिए प्रयास करने वाले लोग निराश होंगे, लेकिन इसके बारे में फैसला पार्टी आलाकमान ही करेगा।
उधर, बल्लारी में सोमशेखर ने कहा कि पार्टी आलाकमान को श्रीरामुलू को उपमुख्यमंत्री बनाने पर विचार करना चाहिए। सोमशेखर ने कहा कि इस पर फैसला आलाकमान करेगा लेकिन अच्छा होगा यदि पार्टी ऐसा करे क्योंकि श्रीरामुलू वाल्मिकी समुदाय के बड़े नेता के तौर पर उभरे हैं और पार्टी को इसे देखते हुए निर्णय लेना चाहिए। सोमशेखर पूर्व मंत्री जी. जनार्दन रेड्डी के भाई हैं। खनन कारोबारी रेड्डी का कभी बल्लारी जिले की राजनीति में मजबूत पकड़ थी। श्रीरामुलू भी कभी रेड्डी बंधुओं के कररीबी हुआ करते थे। जुलाई में मंत्रिमंडल का पहला विस्तार होने के बाद बल्लारी के साथ ही बेंगलूरु में भी श्रीरामुलू को मंत्री बनाने की मांग को लेकर प्रदर्शन हुए थे। श्रीरामुलू के समर्थकों का दावा है कि पिछले साल विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी ने उन्हें उपमुख्यमंत्री के तौर पर पेश किया था।

BJP
Jeevendra Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned