इशारों-इशारों में बहुत कुछ कह गए अमित शाह

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह बेंगलूरु दक्षिण लोकसभा क्षेत्र में रोड शो के दौरान भले ही खामोश रहे मगर इशारों-इशारों में बहुत कुछ कह गए।

By: Santosh kumar Pandey

Published: 04 Apr 2019, 07:06 PM IST

राम नरेश गौतम
बेंगलूरु. बेंगलूरु भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह बेंगलूरु दक्षिण लोकसभा क्षेत्र में रोड शो के दौरान भले ही खामोश रहे मगर इशारों-इशारों में बहुत कुछ कह गए। प्रदेश भाजपा नेताओं को उनका स्पष्ट संदेश था कि तेजस्वी सूर्य का चुनाव शीर्ष नेतृत्व ने किया है और उनका साथ नहीं देना आलाकमान को चुनौती देना होगा। सूत्रों के अनुसार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के इशारे पर हुए अमित शाह के इस रोड शो से बगावती सुर दबाने की कोशिश की गई है।

दरअसल, वर्ष 199१ से ही बेंगलूरु दक्षिण लोकसभा सीट भाजपा के कब्जे में है। पार्टी के एक पदाधिकारी के अनुसार तेजस्विनी अनंत कुमार की बजाय पार्टी के मातृ संगठन आरएसएस के पसंदीदा तेजस्वी सूर्य के टिकट मिलने के बाद उपजा असंतोष गहराता जा रहा था। शहर की राजनीति में पैठ रखने वाले विधायक आर. अशोक का रवैया उदासीन था तो गोविंदराजनगर के विधायक वी. सोमण्णा और उनके समर्थक नेता प्रचार अभियान से दूरी बना रहे थे। चुनाव की घोषणा से पहले ही क्षेत्र में जनसंपर्क शुरू करने वाली तेजस्विनी अनंत कुमार को टिकट मिलने की पूरी उम्मीद थी, लेकिन तेजस्वी के नाम की घोषणा के बाद वह भी नाराज चल रही थीं। सामाजिक कार्यों के चलते क्षेत्र में तेजस्विनी एक लोकप्रिय चेहरा हैं और पार्टी उन्हें नाराज करने का खतरा मोल नहीं लेना चाहती।
सूत्रों के अनुसार पार्टी नेताओं के बीच बढ़ते असंतोष से संघ की चिंताएं बढ़ती जा रही थीं। बेंगलूरु दक्षिण के मतदाताओं और पार्टी कार्यकर्ताओं तक यह संदेश पहुंचाना जरूरी हो गया था कि तेजस्वी सूर्य की उम्मीदवारी सर्वमान्य है। यह भी कि भाजपा आलाकमान और आरएसएस की मंशा राज्य में तेजतर्रार और युवा नेतृत्व गढऩे की है। स्थानीय नेताओं की बेरुखी को देखते हुए संघ ने अमित शाह को बिना किसी पूर्व तैयारी के रोड शो करने के लिए राजी किया।

समय पर हस्तक्षेप
दिलचस्प है कि इस रोड शो के आयोजन की रूपरेखा भी रातों रात बनी। २ अप्रेल को शाह को तमिलनाडु में रैलियां करना था। आज उन्हें उत्तराखंड के उत्तरकाशी, जम्मू कश्मीर में ऊधमपुर तथा राजौरी में जनसभाएं करनी थीं। इस व्यस्त कार्यक्रम के बीच १ अप्रेल को संघ के इशारे पर तय हुआ कि शाह २ अप्रेल को कोयंबटूर से लौटकर बेंगलूरु में रोड शो करेंगे। आनन-फानन में राज्य इकाई को सूचित किया गया।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned