सामाजिक चेतना तथा मानव सेवा के केंद्र बने मंदिर : अमित शाह

सामाजिक चेतना तथा मानव सेवा के केंद्र बने मंदिर : अमित शाह

Ram Naresh Gautam | Publish: Sep, 02 2018 04:52:10 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

उन्होंने कहा कि जब जब इस देश में प्राकृतिक आपदाएं आईं तब-तब मंदिरों ने सहायता के लिए हाथ बढ़ाकर सामाजिक दायित्व निभाया है

रायचूर. देश के मंदिर केवल धार्मिक कर्मकांड तक सीमित नहीं हैं। ये मंदिर सामाजिक चेतना तथा मानवसेवा के केंद्र बने हैं। मंदिरों ने समाज सेवा, शिक्षा स्वास्थ्य चिकित्सा क्षेत्र में योगदान देने के साथ-साथ सदियों से धर्म तथा संस्कृति की रक्षा का कार्य किया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने यह बात कही।

शनिवार को मंत्रालयम (आंध्र प्रदेश) में राघवेंद्र मठ की ओर से निर्मित अद्यतन सुजयेंद्रतीर्थ स्वास्थ्य चिकित्सा केंद्र के लोकार्पण कार्यक्रम में भाग लेते हुए उन्होंने कहा कि जब जब इस देश में प्राकृतिक आपदाएं आईं तब-तब मंदिरों ने सहायता के लिए हाथ बढ़ाकर सामाजिक दायित्व निभाया है। मंत्रालयम में प्रति दिन देश के विभिन्न क्षेत्रों से राघवेंद्र स्वामी के अनुयायी पहुंचते हैं, ऐसे लोगों की स्वास्थ्य चिकित्सा के लिए ऐसा सुसज्जित अस्पताल का निर्माण कर इस मठ ने सराहनीय कार्य किया है।

इस अवसर पर उपस्थित स्वामी सुबुधेंद्र तीर्थ ने कहा की इस सुसज्जित अस्पताल के निर्माण से मंत्रालयम तीर्थ क्षेत्र के आस-पास के सैकड़ों गावों के लोगों की बहुप्रतीक्षित मांग पूरी हुई है। इस अस्पताल में जरूरतमंदों की नि:शुल्क चिकित्सा होगी। इससे पहले भाजपा अध्यक्ष ने मठ में राघवेंद्र स्वामी के वृंदावन का दर्शन किया। उसके पश्चात मठ के प्रमुख स्वामी सुबुधेंद्रतीर्थ ने उनका सम्मान किया। अमित शाह ने मठ द्वारा संचालित गौशाला में गो पूजन किया। गौशाला के सटीक संचालन के लिए अमित शाह ने राघवेंद्र मठ के प्रबंधन की सराहना की।

 

बाबा गणिनाथ जयंती 8 सितम्बर को
बेंगलूरु. बाबा गणिनाथ मध्यदेशीय सेवा समिति की ओर से जयनगर के केएसआरटीसी लेआउट के ब्लॉक 9 में पवन धाम स्थित सेंट्रल मॉल के पास राजीगुड़ा प्रसन्ना अंजनैय्या स्वामी मंदिर प्रांगण में 8 सितम्बर को बाबा गणिनाथ की पांचवीं जयंती व वार्षिक पूजा उत्सव समारोह का आयोजन किया जाएगा। आयोजन के समन्वयक डॉ. रणजीत कुमार ने बताया कि पूजा कार्यक्रम सुबह 8 बजे शुरू होकर सायं 4.30 बजे तक होगी। कलाकार, बच्चों, महिलाओं व युवाओं द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी जाएगी। दोपहर 2 बजे काव्य गोष्ठी होगी।

Ad Block is Banned