बेसहारा पशुओं और पक्षियों को मिलेगा चारा व दाना

पशु स्वयंसेवकों और बीबीएमपी ने दुकानों में बंद पालतु जानवरों/ पक्षियों को चारा व दाना देने और मुक्त कराने के लिए हाथ मिलाया है।

By: Santosh kumar Pandey

Published: 29 Mar 2020, 09:48 PM IST

बेंगलूरु. पशु स्वयंसेवकों और बीबीएमपी ने दुकानों में बंद पालतु जानवरों, पक्षियों को चारा व दाना देने और मुक्त कराने के लिए हाथ मिलाया है। समूहों ने उन बेसहारा पशु-पक्षियों को खिलाने की रणनीति भी बनाई है जो कोविड-19 लॉकडाउन के चलते कई दिनों से भूखे हैं।

कर्नाटक पशु कल्याण बोर्ड के नेतृत्व में पशु स्वयंसेवकों ने आपातकालीन रणनीति पर चर्चा करने के लिए रविवार को बीबीएमपी अधिकारियों से मुलाकात की। कर्नाटक एनिमल वेलफेयर बोर्ड के सदस्य शिवानंद डंबले ने कहा कि बीबीएमपी विभिन्न पशु स्वयंसेवक समूहों जैसे कि कूप, पीएफए, एएसपीसीए और अन्य को जानवरों को खिलाने के लिए समर्थन करने पर सहमत हुआ है।

उन्होंने कहा कि पूरे बेंगलूरु शहर को चार क्षेत्रों में विभाजित किया जाएगा। प्रत्येक समूह को अपने संबंधित क्षेत्रों में जानवरों व पक्षियों की देखभाल करने की जिम्मेदारी दी जाएगी। प्रत्येक क्षेत्र में सुुबह 7 से 9.30 बजे और शाम को 4 से 6 बजे का समय निर्धारित किया जाएगा। ताकि हर दिन लगभग सभी जानवरों को खिलाया जाए। विभिन्न क्षेत्रों में जानवरों के लिए भोजन रसोई का भी निर्णय किया गया है, ताकि इन जानवरों के लिए गुणवत्ता परक और स्वच्छ भोजन तैयार किया जा सके और परोसा जा सके।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned