दीवारों और दुकानों के शटर पर लिखे Anti-CAA और Free Kashmir के नारे

अब पुलिस कर रही लिखने वालों की तलाश

बेंगलूरु. शहर के एक पॉश इलाके में दीवारों और दुकानों के शटर पर मुक्त कश्मीर के समर्थन, नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (एनपीआर) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ नारे लिखने का मामला सामने आया है। चर्च स्ट्रीट इलाके में रातों-रात नारे लिखे जाने के बाद पुलिस इसमें शामिल संदिग्धों की तलाश में जुट गई है।

मध्य क्षेत्र के पुलिस उपायुक्त चेतन सिंह राठौर ने बताया कि सुबह मामला सामने आने के बाद से पुलिस जांच में जुटी हुई है और फोटो, इलाके के सीसीटीवी फुटेज जुटाए गए हैं। इनसे मिली जानकारी के आधार पर जांच चल रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक एक फुटेज में दो लोग घटनास्थल के पास सुबह करीब 3 बजे संदिग्ध अवस्था में घूमते दिखाई दे रहे हैं। कब्बन पार्क पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

गौरतलब है कि मंगलवार सुबह चर्च स्ट्रीट की कुछ दुकानों के शटर और दीवारों पर नारे लिखे दिखे। इससे लोग अचंभित रह गए। मुक्त कश्मीर के साथ-साथ भाजपा, संघ परिवार, सीएए, एनपीआर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ भी नारे लिखे गए थे। पिछले सप्ताह मैसूरु विवि में प्रदर्शन के दौरान भी मुक्त कश्मीर का पोस्टर दिखाने का मामला सामने आया था।

Sanjay Kumar Kareer
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned