scriptasani cyclone weather news | बैसाख के महीने में बेंगलूरुवासियों को निकालने पड़े गर्म कपड़े.. जानिए क्यों | Patrika News

बैसाख के महीने में बेंगलूरुवासियों को निकालने पड़े गर्म कपड़े.. जानिए क्यों

इस समय समूचा उत्तर भारत जहां सूरज के तीखे तेवर के चलते भीषण गर्मी, लू और उमस से जूझ रहा है। वहीं, सदाबहार मौसम के लिए बागों के शहर के नाम से जाना जाने वाले बेंगलूरु में सिहरन बढ़ गई है।

बैंगलोर

Updated: May 12, 2022 11:37:40 pm

Bengaluru weather बेंगलूरु. इस समय समूचा उत्तर भारत जहां सूरज के तीखे तेवर के चलते भीषण गर्मी, लू और उमस से जूझ रहा है। वहीं, सदाबहार मौसम के लिए बागों के शहर के नाम से जाना जाने वाले बेंगलूरु में सिहरन बढ़ गई है। लोग गर्मी के मौसम में सर्दी का आनंद ले रहे हैं और एसी जैसे तापमान का अनुभव कर रहे हैं। गुरुवार को भी सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे। सूर्य के दर्शन तक नहीं हुए। दिन भर सर्द हवाओं का दौर चला और तापमान ऐसा गिरा कि पिछले कई दशकों के रेकॉर्ड ध्वस्त हो गए।
दरअसल, चक्रवात 'असानीÓ के चलते पिछले कुछ दिनों से शहर का आसमान बादलों से घिरा है। रह-रह के हो रही कभी तेज तो कभी मद्धम बारिश से पिछले कुछ दिनों से तापमान में गिरावट आ रही है। गुरुवार को अधिकतम तापमान गिरकर 23 डिग्री सेल्सियस रह गया, जो सामान्य से 11 डिग्री सेल्यिस कम है। वहीं, न्यूनतम तापमान 19.5 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से 3 डिग्री सेल्यिस कम है।
एक दशक का रेकॉर्ड टूटा
मौसम विभाग का कहना है कि पिछले 50 साल में मई महीने में सबसे कम अधिकतम तापमान 22.2 डिग्री सेल्सियस 14 मई 1972 को दर्ज किया गया था। उसके बाद मई महीने में यह दूसरा सबसे सर्द मौसम है। एक दिन पहले ही शहर का अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था जो सामान्य से 9 डिग्री सेल्यिस कम था। मंगलवार को शहर का अधिकतम तापमान 24.3 डिग्री सेल्सियस कम था। पिछले 10 साल के दौरान मई महीने में सबसे कम तापमान बुधवार (11 मई 2022 के बाद) को दर्ज किया गया। यह एक दशक में मई महीने का सबसे सर्द दिन रहा।
गुलाबी सर्दी का अहसास
मई का महीना आमतौर पर गर्मी का चरम महीना होता है। लेकिन, इस वर्ष मौसम ने बेंगलूरु में दस साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। पिछले तीन दिनों से तापमान अब तक के सबसे निचले स्तर पर बना हुआ है, जिससे बेंगलूरु वासियों को लगता है कि शहर को अपना मूल वातानुकूलित मौसम वापस लौट आया है। हालात यह है कि लोगों ने स्वेटर, जैकेट और टोपियां निकाल ली हैं। चौराहों पर पकौड़ों की दुकानें जल्दी खुलने लगी हैं। जूस और नारियल पानी की दुकानों के पास लगने वाली भीड़ कम हो गई है और लोग चाय-कॉफी की चुस्कियां ले रहे हैं।
मौसम विभाग के अनुसार यह मई में अब तक का सबसे निचला स्तर है। 2 मई 2016 को मई महीने का सबसे कम अधिकतम तापमान 33.8 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 22 मई 1931 को 38.9 डिग्री सेल्सियस था जबकि मई महीने में सबसे कम तामपान 16.7 डिग्री सेल्यिस 6 मई 1945 को दर्ज किया गया था। वहीं पिछले साल, मई महीने का अधिकतम तापमान 10 मई को 34.4 डिग्री सेल्सियस था। मई महीने में शहर का औसत दैनिक तापमान अधिकतम 33.3 और न्यूनतम 21.7 डिग्री सेल्सियस होता है।
चार दिन में तेजी से लुढ़का पारा
आईएमडी बेंगलूरु की प्रभारी निदेशक गीता अग्निहोत्री के अनुसार सोमवार को ही अधिकतम तापमान 31.5 डिग्री सेल्सियस रहा। बाद में बादल छा गए और रुक-रुक कर होने वाली बारिश और तेज हवाओं के साथ तापमान केवल 24 घंटों में गिर गया। उन्होंने कहा कि यह चक्रवात आसनी का असर है। जैसे-जैसे चक्रवात दूर होगा, तापमान धीरे-धीरे बढ़ेगा और 30 डिग्री तक पहुंच जाएगा। उन्होंने कहा कि मानसून की शुरुआत पर इस मौसम का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।
कुछ दिनों तक रहेग चक्रवात का असर
मौसम विभाग ने कहा है कि चक्रवात का असर अगले कुछ दिनों तक रह सकता है। मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक अगले 24 घंटे के दौरान शहर में हल्की से भारी बारिश की संभावना है। हवाओं की गति तेज हो सकती है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान 24 डिग्री और 20 डिग्री के आसपास ही रहने की उम्मीद है।
बैसाख के महीने में बेंगलूरुवासियों को निकालने पड़े गर्म कपड़े.. जानिए क्यों
बैसाख के महीने में बेंगलूरुवासियों को निकालने पड़े गर्म कपड़े.. जानिए क्यों

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

PM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंद्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफAnother Front of Inflation : अडानी समूह इंडोनेशिया से खरीद राजस्थान पहुंचाएगा तीन गुना महंगा कोयला, जेब कटना तयसुकन्या समृद्धि योजना में सरकार ने किए बड़े बदलाव, जानें क्या है नए नियम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.