एक साथ पिंक कलर के कपड़े पहन कर बेंगलूरु की सड़कों पर क्‍यों उतरीं हजारों महिलाएं?

आशा कार्यकर्ताओं का अनिश्चितकालीन विरोध प्रदर्शन शुरू

By: Sanjay Kumar Kareer

Published: 03 Jan 2020, 07:26 PM IST

बेंगलूरु. राज्य भर की मान्यताप्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (आशा) ने शुक्रवार को बेंगलुरु में बड़े पैमाने पर अनिश्चितकालीन विरोध प्रदर्शन शुरू किया। वे 12,000 का एक निश्चित मासिक मानदेय देने के साथ ही आशा के लिए केंद्र की ऑनलाइन भुगतान प्रणाली आशा सॉफ्ट को प्रजनन बाल स्वास्थ्य (आरसीएच) पोर्टल से अलग करने की मांग कर रही हैं।

राज्य भर से शहर में एकत्रित हुई आशा कार्यकर्ताओं ने सिटी रेलवे स्टेशन से फ्रीडम पार्क तक मार्च किया। विशाल रैली के कारण सीबीडी में मैजेस्टिक सर्कल और आसपास की सड़कों पर यातायात प्रभावित हुआ और सड़कों पर कई जगह लंबे-लंबे जाम लग गए।

कर्नाटक राज्य संयुक्त आशा वर्कर्स एसोसिएशन की सचिव डी. नागलक्ष्मी ने कहा कि जिन कार्यकर्ताओं की सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु और शहर के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक हुई थी, वे उनकी मांगों पर सरकार की प्रतिक्रिया से खुश नहीं थे।

उन्‍होंने कहा कि मंत्री के साथ यह हमारी चौथी बैठक थी और अब तक हमसे सिर्फ झूठे वादे किए गए हैं। हम बेंगलूरु में दो दिन की और रात की हड़ताल करेंगे और अपनी मांग पूरी होने तक अपने जिलों में अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल जारी रखेंगे।

Sanjay Kumar Kareer Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned