चिकपेट की सूरत संवारने का आश्वासन

व्यापारिक गतिविधियों के प्रमुख केंद्र चिकपेट की सूरत संवारने के लिए बृहद बेंगलूरु महानगरपालिका प्रतिबद्ध है। इसके लिए चिकपेट में कई योजनाएं गतिमान हैं और आने वाले समय में अन्य योजनाओं के जरिए चिकपेट को उन्नत ढ़ांचागत सुविधाओं से युक्त किया जाएगा। महापौर एम गौतम कुमार ने शुक्रवार को चिकपेट इलाके का दौरा करने के बाद यह बात कही।

बेंगलूरु. व्यापारिक गतिविधियों के प्रमुख केंद्र चिकपेट की सूरत संवारने के लिए बृहद बेंगलूरु महानगरपालिका प्रतिबद्ध है। इसके लिए चिकपेट में कई योजनाएं गतिमान हैं और आने वाले समय में अन्य योजनाओं के जरिए चिकपेट को उन्नत ढ़ांचागत सुविधाओं से युक्त किया जाएगा। महापौर एम गौतम कुमार ने शुक्रवार को चिकपेट इलाके का दौरा करने के बाद यह बात कही।

उन्होंने गांधीनगर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले चिकपेट वार्ड संख्या १०९ की सभी सड़कों को एक सप्ताह के भीतर गड्ढों से मुक्त करने का अधिकारियों को आदेश दिया। गौतम कुमार ने पूरे इलाके का स्कूटर से दौरा किया और कई सड़कों और गलियों का मुआयना किया। इस दौरान उन्होंने बीवीके अयंगार रोड, काटनपेट सहित कई अन्य प्रमुख सड़कों पर चल रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। सड़कों पर गड्ढों और फुटपाथों की खस्ताहाल स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए उन्होंने अधिकारियों पर नाराजगी जताई।

उच्च न्यायालय के ३१ मार्च तक सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के आदेश का हवाला देते हुए उन्होंने अधिकारियों को निर्धारित समय सीमा में सभी निर्माण कार्य पूरे करने और गड्ढों को भरने के प्रति जवाबदेह होने कहा। उन्होंने कहा कि गड्ढा मुक्त सड़कों को लेकर बार बार समय सीमा तय की जाती है लेकिन फिर भी वादा पूरा नहीं होता है। इसका मूल कारण अधिकारियों का गैर जिम्मेदाराना रवैया है।

चिकपेट क्षेत्र में कचरा निस्तारण समस्या बरकरार रहने पर भी उन्होंने आश्वासन दिया कि बीबीएमपी इस दिशा में ठोस योजना के तहत काम करेगी और कचरा मुक्त चिकपेट का वादा पूरा होगा। कचरा प्रबंधन में नागरिकों से सहयोग की अपील की। इस दौरान विशेष आयुक्त (कचरा निस्तारण) एस.रणदीप के चिकपेट क्षेत्र में नहीं होने पर उन्होंने नाराजगी जताई और कहा कि ऐसे दौरों और निरीक्षणों के समय वरीय अधिकारियों को अनिवार्य रूप से उपस्थित होना चाहिए ताकि जनसमस्याओं का सार्थक समाधान सुनिश्चित हो सके।

महापौरने गांधी नगर में कई प्रमुख सड़कों को व्हाईट टापिंग करने के बाद भी निर्माण सामग्री नहीं हटाने पर अधिकारियों को फटकार लगाई। इस दौरान संयुक्त आयुक्त चिदानन्द, पाषर्द लीला शिवकुमार और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned