scriptAsthma drug can block crucial SARS-CoV-2 protein | अस्थमा की दवा कोरोना वायरस के खिलाफ कारगर | Patrika News

अस्थमा की दवा कोरोना वायरस के खिलाफ कारगर

-आइआइएससी के वैज्ञानिकों की अहम खोज
-दृढ़ता से बांध देती है सार्स-कोव-2 के स्पाइक प्रोटीन एनएसपी-1 को

बैंगलोर

Published: May 06, 2022 10:01:17 am

बेंगलूरु.
भारतीय विज्ञान संस्थान (आइआइएससी) के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस सार्स-कोव-2 पर महत्वपूर्ण शोध कर यह पता लगाया है कि अस्थमा के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली एक दवा इस खतरनाक वारयरस के स्पाइक प्रोटीन के खिलाफ कारगर है। अमरीकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) द्वारा अनुमोदित यह दवा ‘मोंटेकुलास्ट’ है।
दरअसल, वैज्ञानिकों ने अपने शोध के दौरान एफडीए अनुमोदित 1600 से अधिक दवाओं को इस प्रयोग के लिए चुना। तमाम प्रयोगों के बाद मोंटेलुकास्ट, एचआइवी-रोधी दवा साक्विनावीर सहित लगभग एक दर्जन दवाओं का चयन किया गया। अंतत: ‘मोंटेकुलास्ट’ सबसे अधिक प्रभावी साबित हुआ। यह दवा पिछले 20 वर्षों से चलन में है और अस्थमा, एलर्जी, हे फीवर आदि के उपचार में इस्तेमाल की जाती है।
आइआइएससी में आणविक प्रजनन, विकास एवं आनुवंशिकी विभाग (एमआरडीजी) के सहायक प्रोफेसर तनवीर हुसैन ने बताया कि मोंटेकुलास्ट दवा कोरोना वायरस सार्स-कोव-2 के एक छोर (जिसे सी-टर्मिनल कहा जाता है) पर मौजूद स्पाइक प्रोटीन ‘एनएसपी-1’ को मजबूती से बांध देती है। ‘एनएसपी-1’ कोरोना वायरस का वही स्पाइक प्रोटीन है जो पहली बार मानवीय कोशिकाओं में प्रवेश करता है। यह प्रतिरक्षा कोशिकाओं के अंदर राइबोसोम (प्रोटीन बनाने वाली मशीनरी) से जुडक़र अहम प्रोटीनों के संश्लेषण को रोक देता है जिससे हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है। वैज्ञानिकों ने इसी स्पाइक प्रोटीन को रोकने के लिए कारगर दवाओं की खोज शुरू की।
अस्थमा की दवा कोरोना वायरस के खिलाफ कारगर
अस्थमा की दवा कोरोना वायरस के खिलाफ कारगर
कोरोना के सभी वैरिएंट पर प्रभावी
प्रयोग के दौरान वैज्ञानिकों ने पाया कि वायरस के जिस छोर को मोंटेकुलास्ट दवा बांध देती है वहां, वायरल प्रोटीन का म्यूटेशन दर अत्यंत कम हो जाता है। चूंकि, कोरोना वायरस के सभी वैरिएंट में ‘एनएसपी-1’ एक जैसा ही होता है और इसमें कोई बदलाव नहीं होता है इसलिए यह दवा वायरस के सभी वैरिएंट के खिलाफ समान रूप से प्रभावी होगी। हुसैन और उनकी टीम ने पहली बार कम्प्यूटेशनल मॉडलिंग का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर आंकड़े जुटाए जिससे दवा की दीर्घकालिक स्थिरता का सही आकलन हो सका।
बेहद चुनौतीपूर्ण था शोध
अध्ययन में शामिल आइआइएससी के पूर्व वैज्ञानिक एवं ऑस्टिन स्थित टेक्सास यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर मोहम्मद अफसर ने कहा कि कौन सी दवा मानव शरीर के भीतर काम करेगी इसका विश्लेषण करना और पता लगाना काफी चुनौतीपूर्ण था। उन्होंने कहा इसके दो पहलू हैं। पहला दवा का वायरल प्रोटीन के साथ मजबूती से बंधना और दूसरा लंबे समय तक बंधे रहना ताकि कोशिकाएं प्रभावित ना हों। एचआइवी रोधी दवा साक्विनावीर भी इस वायरल प्रोटीन से बंधती है लेकिन, लंबे समय तक स्थिर नहीं रहती। वहीं, मोंटेकुलास्ट एनएसपी-1 से दृढ़ता के साथ बंधकर लंबे समय तक स्थिर रहती है। इससेे कोशिकाएं प्रोटीन संश्लेषण का अपना सामान्य कार्य सही ढंग से कर पाईं।
दवा को और प्रभावकारी बनाने की योजना
तनवीर हुसैन की टीम ने संक्रामक रोग अनुसंधान केंद्र (सीआइडीआर) के सहायक प्रोफेसर शशांक त्रिपाठी के सहयोग से जैव-सुरक्षा लेवल-3 सुविधा युक्त सीआइडीआर में जीवित वायरस पर भी दवा के प्रभाव का परीक्षण किया और इसे कारगर पाया। हुसैन ने कहा कि यह दवा कोविड-19 संक्रमित रोगियों के अस्पताल में भर्ती होने की दर कम करने में सक्षम है। वैज्ञानिकों की योजना अब केमिस्टों के साथ मिलकर यह प्रयोग करने की है कि क्या इस दवा में कुछ संरचनागत बदलाव कर इसे सार्स-कोव-2 के खिलाफ और अधिक प्रभावकारी बनाया जा सकता है?

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

IPL 2022 LSG vs KKR : डिकॉक-राहुल के तूफान में उड़ा केकेआर, कोलकाता को रोमांचक मुकाबले में 2 रनों से हरायानोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डDelhi LG Resigned: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया इस्तीफा, निजी कारणों का दिया हवालाIndia-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाWatch: टेक्सास के स्कूल में भारतीय अमेरिकी छात्र का दबाया गला, VIDEO देख भड़की जनताHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.