बी-ट्रैक योजना फिर शुरू करने पर विचार

बी-ट्रैक योजना फिर शुरू करने पर विचार

Rajendra Shekhar Vyas | Publish: Nov, 24 2018 06:57:06 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

उप मुख्यमंत्री डॉ.जी.परमेश्वर बोले

बेंगलूरु. बेंगलूरु की यातायात समस्या हल करने के लिए सरकार ने कई तरह के विकास कार्य आरंभ किए हैं और बी ट्रैक योजना फिर शुरू करने पर विचार कर रही है।
उप मुख्यमंत्री डॉ.जी.परमेश्वर ने शुक्रवार को बेंगलूरु के पूर्व क्षेत्रों का औचक दौरा कर विभिन्न समस्याओं का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि सरकार के पास यातायात समस्या हल करने के लिए जादू की छड़ी नहीं है। वे खुद भी कई बार जाम में फंसे हैं। यातायात समस्या को स्थाई रूप से हल करना अब जरूरी हो गया है। बी-ट्रैक योजना से ऐसा करने का प्रयास किया जाएगा। इसके लिए केंद्र से भी अनुदान मिलेगा। इस योजना की अवधि पांच साल तक रहेगी।
परमेश्वर ने डॉलर्स कॉलोनी में देवसंद्र इंदिरा कैंटीन के रसोई घर का दौरा किया। फिर न्यू बीइएल सर्कल स्थित इंदिरा कैंटीन पहुंचे और वहां नाश्ता कर रहे लोगों से भोजन के बारे में जानकारी प्राप्त की। कई लोगों ने स्वाद की तारीफ की। परमेश्वर ने खुद भी वहां नश्ता किया।
इसके बाद लोट्टे गोल्लाहल्ली स्थित सरकारी ग्रंथालय गए। वहां टूटा फर्नीचर, अलमारियां, पुस्तकें और अन्य समस्याओं का जायजा लिया। ग्रंथालय में लोगों की संख्या कम का कारण पूछने पर कर्मचारियों ने बताया कि खराब फर्नीचर, पुरानी किताबें और अन्य परेशानियों के कारण लोग नहीं आते। परमेश्वर ने अधिकारियों को नया फर्नीचर और पुस्तकें खरीदने के निर्देश दिए।
उन्होंने हेब्बाल फ्लाई ओवर और रिंग रोड पर चल रहे वाइट टॉपिंग कार्य का निरीक्षण किया। न्यू बीइएल सर्कल स्थित इंदिरा कैंटीन में भोजन का स्वाद चखा। परमेश्वर ने गंगानगर स्थित मेटरनिटी अस्पताल और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का भी दौरा किया। वहां महिलाओं और अन्य रोगियों से सरकारी चिकित्सकों की सेवा के बारे में जानकारी प्राप्त की। किसी भी रोगी ने कोई शिकायत नहीं की और कहा कि यहां सभी सुविधाएं उपलब्ध है।
परमेश्वर ने कगहा कि कहा कि पालिका के अंतर्गत सभी परियोजनाओं का निर्माण कार्य अगले माह पूरा होना है, वरना ठेकेदारों का नाम काली सूची में शामिल किया जाएगा। वे हर दिन सभी क्षेत्रों से निर्माण कार्य की प्रगति की जानकारी लेते हैं। पालिका के थिंक माई सिटी नामक ऐप्प से कई समस्याओं को हल किया जा रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned