खुली चेतावनी ... उनकी मांगें नहीं मानी तो शहर को बना देंगे कचरा घर

खुली चेतावनी ... उनकी मांगें नहीं मानी तो शहर को बना देंगे कचरा घर

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Jun, 18 2019 07:29:23 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

लंबित मांगों को लेकर सफाई कर्मचारियों ने दिया एक दिनी धरना

सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने की मांग, पालिका आयुक्त को ज्ञापन सौंपा

बेंगलूरु. सैकड़ों सफाई कर्मचारियों ने सोमवार को उन्हें सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने और वेतन सीधे बैंक खातों के जरिए देने की मांग को लेकर पालिका मुख्यालय के सामने धरना दिया।

कर्नाटक राज्य नगर निगम, नगर पालिका और टाउन पंचायत सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष मैसूरु नारायण ने कहा कि जब तक सरकार प्रदेश के हजारो सफाई कर्मचारियों को सरकारी कर्मचारी का दर्जा नहीं देगी और उनके लिए स्वास्थ्य कार्ड जारी नहीं करेगी तब तक संघ का प्रदर्शन जारी रहेगा।

उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार सफाई कर्मचारियों की मांगों को पूरा करने में विफल रही है। पालिका के अंतर्गत 18 हजार से अधिक सफाई कर्मचारी कार्यरत है। उन्हें अभी तक मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराई गई है। आज भी ठेकेदार उन्हें बहुत कम वेतन देते हैं।

उन्होंने कथित आरोप लगाते हुए कहा कि यहां तक कि कुछ मामलों में वेतन के लिए ठेकेदारों को रिश्वत देनी पड़ती है। इसके अलावा सफाई करने के लिए दस्ताने, गम बूट, झाडू और ठेला गाडिय़ां नहीं दी गई है। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारियों के मकान क्षतिग्रस्त हालात में है। अगर बारिश हुई तो कई लोगों के मकान गिरने की स्थिति में है।

आवासीय कॉलोनियों की कई सालों से मरम्मत नहीं हुई है और अभी तक मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं कराई गई। सफाई कर्मचारियों ने संघ के जरिए अपनी मांगों को लेकर पालिका के आयुक्त एन.मंजुनाथ को ज्ञापन सौंपा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned