बीबीएमपी ने फर्जी सफाई कर्मियों को निकाला

वह पालिका से हर माह वेतन लेकर धोखा दे रहे थे

By: Ram Naresh Gautam

Published: 07 Jun 2018, 06:55 PM IST

बेंगलूरु. बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) के आयुक्त महेश्वर राव ने दो हजार से अधिक फर्जी सफाई कर्मचारियों का पता लगाकर उन्हें हटा दिया है। महापौर संपतराज ने पत्रकारों को बताया कि बीबीएमपी के जरिए सीधे वेतन देने और दोपहर के समय भोजन देने की योजना जारी करने पर अचानक सफाई कर्मचरियों की संख्या 22 हजार से 32 हजार हो गई।

कुछ लोगों ने बायोमेट्रिक हाजिरी में अपना नाम पंजीयन करा लिया था। वह पालिका से हर माह वेतन लेकर धोखा दे रहे थे। गत दो माह से सफाई कर्मचाीर के तौर पर आवेदनों देने वाले कर्मचारियों का पता लगाया गया। इससे पता चला कि दो हजार से अधिक सफाई कर्मचारी केवल वेतन प्राप्त करते हैं और सफाई नहीं करते।

 

चुनचनकट्टे जलप्रपात में पर्यटकों का प्रवेश प्रतिबंधित
मैसूरु. चुनचनकट्टे जलप्रपात में पानी के तेज बहाव में एक वैज्ञानिक की डूबने से हुई मौत के बाद स्थानीय प्रशासन ने अगले आदेश तक पर्यटकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। जिला प्रशासन की ओर से बुधवार को जारी आधिकारिक निर्देश में कहा गया कि जलप्रपात के प्रवेश मार्ग की बाड़बंदी की जाएगी और जलप्रपात से पानी छोड़े जाने के समय सायरन बजाया जाएगा, इसके अतिरिक्त लाउडस्पीकर से घोषणा की जाएगी, जिससे पर्यटकों और अन्य लोगों को खतरनाक क्षेत्र के बारे में स्पष्ट जानकारी मिल सके।

गौरतलब है कि रविवार को चुनचनकट्टे जलप्रपात में पानी के तेज बहाव में आने से केंद्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी शोध संस्थान (सीएफटीआरआइ) के वैज्ञानिक पानी में बह गए थे, जिससे उनकी मौत हो गई। पिछले वर्ष इसी प्रकार श्रीरंगपट्टण स्थित बालमुरी जलप्रपात को पर्यटकों के प्रवेश के लिए प्रतिबंधित कर दिया था और अब चुनचनकट्टे जलप्रपात को पर्यटकों के लिए बंद किए जाने से स्थानीय पर्यटन जगत की चिंताएं बढ़ गई हैं। इन दोनों पर्यटन स्थलों पर हर वर्ष बड़ी संख्या में पर्यटक घूमने आते थे, लेकिन प्रतिबंध के कारण पर्यटन कारोबार को बड़ा झटका लगा है।

 

पुलिस ने 11 घंटे झील में सफाई की
बेंगलूरु. बेंगलूरु ग्रणीण जिला पुलिस और आनेकल उप संभाग पुलिस ने एक झील की सफाई करके सभी का ध्यान आकृष्ट किया है। सोशल मीडिया में उनके प्रयासों की तारीफ हो रही है। पुलिस कर्मचारियों ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आनेकल तहसील में बन्नेरघट्टा रोड के हरप्पनहल्ली झील की सफाई का कार्य किया। आनेकल के पुलिस उप अधीक्षक एस.के. उमेश के नेतृत्व में सफाई अभियान चला। सुबह सात बजे चार जेसीबी और दस ट्रैक्टर के जरिए सफाई शुरू हुई। शाम छह बजे तक सफाई का कार्य जारी रहा। बेंगलूरु ग्रामीण जिले के पुलिस अधीक्षक भीमशंकर गुल्लेद ने हाथ बंटाया। सर्जापुर, अत्तिबेले, सूर्या सिटी, हेबबगोडी, आनेकल और बन्नेरघट्टा पुलिस थानों के कर्मियों ने हिस्सा लिया।

Show More
Ram Naresh Gautam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned