मैटरनिटी अस्पतालों पर बढ़ा मरीजों का बोझ

  • बीबीएमपी के 22 मैटरनिटी अस्पतालों व छह रेफरल होम्स में जहां पहले हर माह करीब 900 प्रसव होते थे, वहीं कुछ महीनों से यह संख्या बढ़कर करीब 1300 पहुंच गई है।

By: Nikhil Kumar

Published: 27 Jul 2020, 11:55 PM IST

- बड़े व कॉर्पोरेट अस्पतालों से भी प्रसव के लिए पहुंच रहीं महिलाएं
- मानव संसाधन उपलब्ध कराने की अपील

बेंगलूरु. बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) के मैटरनिटी अस्पतालों पर मरीजों का बोझ बढ़ गया है। बीबीएमपी ने स्वास्थ्य विभाग से अतिरिक्त मानव संसाधन उपलब्ध कराने की अपील की है। सरकारी अस्पतालों से दूर रहने वालीं गर्भवती महिलाओं के लिए ये अस्पताल नई उम्मीद हैं क्योंकि ज्यादातर निजी अस्पताल अपने ही मरीजों के उपचार से कतरा रहे हैं। एंटीनेटल जांच के लिए बड़े और कॉर्पोरेट निजी अस्पतालों में पंजीकृत महिलाएं अब बीबीएमपी अस्पतालों का रूख कर रही हैं। (Amidst The coronavirus pandemic BBMP Maternity Hospital takes the load of expecting mothers in Bengaluru)

बीबीएमपी में मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी (क्लिनिकल स्वास्थ्य) डॉ. निर्मला बुग्गी ने बताया कि बीबीएमपी के 22 मैटरनिटी अस्पतालों व छह रेफरल होम्स में जहां पहले हर माह करीब 900 प्रसव होते थे, वहीं कुछ महीनों से यह संख्या बढ़कर करीब 1300 पहुंच गई है। इन अस्पतालों में अप्रेल में 1027, मई में 1365 और जून में 1328 प्रसव हुए।

डॉ. बुग्गी ने बताया कि बीबीएमपी के तीन अस्पतालों में कोविड पॉजिटिव गर्भवती महिलाओं का उपचार व प्रसव होगा। अस्पतालों में तीन स्त्री रोग विशेषज्ञ, छह बाल रोग विशेषज्ञ और अनेस्थेटिस्ट, 18 एमबीबीएस चिकित्सक, छह जनरल फीजिशियन और 90 नर्सें चाहिए। फिलहाल 30 स्त्री रोग विशेषज्ञ, 11 बाल रोग विशेषज्ञ, सात अनेस्थेटिस्ट, 12 एमबीबीएस चिकित्सक और 122 नर्सें सेवाए दे रही हैं।

नए दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रसव के 15 दिन पहले गर्भवती को कोरोना वायरस के लिए जांचना अनिवार्य है। रैपिड एंटीजन किट उपलब्ध होने से जांच में आसानी हो रही है।

मूडलपाल्या और एन. आर. कॉलोनी मैटरनिटी अस्पताल सहित सिद्धय्या रोड व श्रीरामपुर रेफरल अस्पताल में ही सीजेरियन प्रसव की व्यवस्था है। चौबीसों घंटे चिकित्सक, नर्सें व अन्य स्वास्थ्यकर्मी ड्यूटी पर होते हैं।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned