scriptBeing grateful to benefactor is a human virtue - Kapil Muni | उपकारी के प्रति कृतज्ञ होना मानवीय सद्गुण-कपिल मुनि | Patrika News

उपकारी के प्रति कृतज्ञ होना मानवीय सद्गुण-कपिल मुनि

कृतज्ञता ज्ञापन समारोह का आयोजन

बैंगलोर

Published: November 19, 2021 09:49:17 am

बेंगलूरु. यहां श्रीरामपुरम स्थित जैन स्थानक में विराजित कपिल मुनि के सफल चातुर्मास की सम्पूर्ति के उपलक्ष्य में गुरुवार को वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ, श्रीरामपुरम के तत्वावधान में सुबह 9 बजे से "कृतज्ञता ज्ञापन समारोह आयोजन किया गया। कपिल मुनि ने श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहा कि प्रत्येक प्राणी की जीवन यात्रा एक दूसरे के सहयोग पर आधारित है। हमारे जीवन में जिनका भी सहयोग है उनके प्रति अहोभाव से ओतप्रोत होकर कृतज्ञ बनना मानवीय सद्गुण है। उपकारी को विस्मृत करना एक ऐसा अपराध है जिसकी शुद्धि का कोई प्रावधान भी नहीं है। अत:इंसान को अपने उपकारी व सहयोगी को भूलने रूप कृतघ्नता के पाप से सदैव बचते रहना चाहिए। पशु पक्षी और पकृति भी अपने उपकारी के प्रति अकृतज्ञ नहीं बनते। मुनि ने कहा कि हमारे जीवन में भी देव गुरु और धर्म का असीमित उपकार है। उन्हीं की कृपा का यह प्रतिफल है कि श्रीरामपुरम में यह चातुर्मास जप तप की साधना और प्रवचन सभा में प्रतिदिन श्रोताओं की आशातीत उपस्थिति के साथ सफलता के शिखर तक पहुंचा है। उन्होंने कहा कि चातुर्मास की सफलता किसी एक व्यक्ति की नहीं अपितु सभी के सामुहिक प्रयासों का परिणाम है। उन्होंने श्रीरामपुरम संघ के सभी पदाधिकारियों और इसमें प्रत्येक सहयोगी के नाम उल्लेख करते हुए सभी को धन्यवाद दिया। संघ के मंत्री बालूराम दलाल ने सभी का स्वागत किया। संघ के सदस्य सिद्धार्थ बोहरा ने मुनि के व्यक्तित्व की विशेषताओं का जिक्र करते हुए कहा कि मुनि का वरदहस्त हम पर सदैव बना रहे। मुनि की जादू भरी वाणी ने सभी श्रद्धालुओं को अपनी प्रतिभा का कायल बना दिया है। संघ के अध्यक्ष शांतिलाल खिंवेसरा ने कहा कि हमारे संघ का प्रबल भाग्य उदय हुआ जिसकी बदौलत हमें आडम्बर प्रदर्शन से कोसों दूर रहने वाले सरल और स्पष्ट व्यक्तित्व के धनी ओजस्वी संत का चातुर्मास मिला। इस मौके पर जैन कॉन्फ्रेंस नई दिल्ली के राष्ट्रीय महामंत्री राजेन्द्र प्रसाद कोठारी, मंत्री सुरेशचंद छल्लाणी, वरिष्ठ स्वाध्यायी शांतिलाल बोहरा, उत्तमचंद-विनोद गुगलिया, मीठालाल पटवा, कांतिलाल गुगलिया, युवक मंडल के मंत्री मुकेश बाबेल, दिनेश खिंवेसरा, उत्तमचंद आच्छा, सूरजमल पीतलिया, नथमल सेठिया ने विचार प्रकट किए। इस मौके पर गणेशमल गुगलिया, देवराज कोठारी, इंदरचंद गुगलिया, अशोक गुगलिया, महावीरचंद गोलेछा, उत्तमचंद लोढ़ा, जी.ताराचंद गुगलिया, महावीरचंद ओस्तवाल, सोहनलाल गुगलिया, रतनचंद सिंघवी, घेवरचंद ओस्तवाल, पुखराज कोठारी उपस्थित थे। संचालन संघ के मंत्री बालूराम दलाल ने किया।
उपकारी के प्रति कृतज्ञ होना मानवीय सद्गुण-कपिल मुनि
उपकारी के प्रति कृतज्ञ होना मानवीय सद्गुण-कपिल मुनि

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.