बेंगलूरु. अतिक्रमण, कल-कारखानों द्वारा जहरीले रसायन और बिना उपचारित मल-जल बे-रोक-टोक बहाए जाने के कारण अति प्रदूषित हो चुकी शहर की सबसे बड़ी बेलंदूर झील में मंगलवार को फिर एक बार झाग निकलने लगा। कई स्थानों पर लगभग 10 फीट ऊंचाई तक जमा झाग हवा के साथ उड़कर सड़क पर बिखरने लगा, जिससे वहां से गुजरना मुश्किल हो गया। वहीं झील के आस-पास रहने वाले लोगों की दुश्वारियां बढ़ गईं।
दरअसल, पिछले दो दिनों से हुई भारी बारिश के कारण झील में बड़े पैमाने पर झाग बना जो सुबह-सुबह झील के ऊपर सफेद चादर की तरह बिछ गया। बेलंदूर झील में झाग बनना कोई नई बात नहीं है। कई बार तो इस झाग के कारण आग भी लगी है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned