कर्नाटक : किम्स में 100वीं कोरोना पॉजिटिव गर्भवती बनी मां

स्त्री रोग विभाग के चिकित्सकों के अनुसार 101 में से 35 प्रसव प्राकृतिक और 66 प्रसव सीजेरियन हैं। इनमें एक जुड़वा प्रसव भी शामिल है।

By: Nikhil Kumar

Published: 15 Sep 2020, 07:26 PM IST

हुब्बल्ली. कर्नाटक इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (किम्स) के चिकित्सकों ने नई उपलब्धी हासिल की है। कोविड पॉजिटिव 100वीं गर्भवती महिला मां बनी है। इस महिला के बाद एक और सफल प्रसव हुआ है। यानी कुल 101 ऐसे मामलों में किम्स के चिकित्सकों को सफलता मिली है।

किम्स (Karnataka Institute of Medical Sciences) में स्त्री रोग विभाग के चिकित्सकों के अनुसार 101 में से 35 प्रसव प्राकृतिक और 66 प्रसव सीजेरियन हैं। इनमें एक जुड़वा प्रसव भी शामिल है। लेकिन तीन प्रसूताओं की मौत भी हुई है। तीनों को अन्य स्वास्थ्य समस्याएं थीं। अतिरिक्त चार शिशु मृत पैदा हुए।

किम्स के निदेशक डॉ. रामलिंगप्पा अंटरतानी ने बताया कि अन्य अस्पताल द्वारा रेफर गंभीर मामले ज्यादा थे। शुरुआत में सीजेरियन प्रसव ज्यादा हुए लेकिन गत कुछ सप्ताह में प्राकृतिक प्रसव की संख्या बढ़ी है। अब तक केवल एक नवजात कोरोना पॉजिटिव निकला है। कोरोना महामारी के पहले किम्स में हर माह हजार के ऊपर प्रसव होते थे। महामारी के बाद से प्रसव की संख्या 800 के करीब रही है। यहां कोविड मरीजों की मृत्यु दर भी अधिक है क्योंकि गंभीर मामले अंतिम समय में रेफर किए जाते हैं।

66 बच्चों का सफल उपचार
किम्स में बाल रोग विभाग के प्रमुख डॉ. प्रकाश वारि ने बताया कि अस्पताल में अब तक कोविड पॉजिटिव 66 बच्चों का उपचार हुआ है। इनमें 10 बच्चे माइल्ड सिंपटोमेटिक थे।

कोरोना को हरा लौटे 23 कर्मचारी
स्त्री रोग विभाग की प्रमुख डॉ. कस्तूरी डी. के अनुसार 10 हाउस सर्जन, आठ स्नातकोत्तर विद्यार्थी, तीन नर्सिंग सहित दो अन्य कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। स्वस्थ होने के बाद सभी ड्यूटी पर लौट आए हैं।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned